विरोध करने वाले इसलिए दुखी कि उन्हें तैयारी का मौका नहीं मिला

नई दिल्ली। पीएम ने शुक्रवार को एक बार फिर उन लोगों पर निशाना साधा जो कि नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहे हैं। नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो लोग यह कह रहे हैं कि सरकार ने तैयारी पूरी नहीं की, उन लोगों को दरअसल ये दुख है कि सरकार ने किसी तैयारी का उन्हें मौका ही नहीं दिया। मोदी संविधान दिवस पर यहां एक प्रोग्राम में शामिल हुए। बता दें कि संविधान दिवस 26 नवंबर को है। .
पीएम ने कहा, ”देश इन दिनों भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बहुत बड़ी लडाई देश लड़ रहा है। देश का आम आदमी इस लड़ाई का सिपाही बना है।” ”देश के आम आदमी को लगता है कि 70 साल तक कानूनों का गलत इस्तेमाल कर कुछ लोगों ने देश को डूबो दिया।” ”नोटबंदी को लेकर कुछ लोगों की आलोचना यह है कि सरकार ने पूरी तैयारी नहीं की, मैं समझता हूं कि मुद्दा यह नहीं है। दरअसल ऐसे लोगों की पीड़ा इस बात की है कि सरकार ने किसी को तैयारी करने का मौका नहीं दिया, अगर मौका मिल जाता तो वो कहते मोदी जी जैसा कोई नहीं।”
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ”हमारे संविधान का हमारी जिंदगी में बहुत महत्व है, जब भी हम कभी संविधान को याद करते हैं तो हमें बाबा साहब की याद आती है।””संविधान की धाराओं के साथ जुड़ना जरूरी नहीं उसकी आत्मा से जुड़ना जरूरी है।””हम न भूले कि 26 नवंबर के बिना 26 जनवरी अधूरी है, 26 जनवरी की ताकत 26 नवंबर में है, इस 26 नवंबर का संविधान दिवस के रूप में युवा पीढ़ी के लिए बहुत अहम है।”
डिजिटल ट्रांसजेक्शन पर जोर
मोदी ने कहा, ”हर किसी को अपना पैसे का इस्तेमाल करने का अधिकार है लेकिन आज दुनिया बदल रही है और यह सिर्फ फिजिकली ही उपलब्ध नहीं है, हमें कैशलैस इकॉनोमी की तरफ बढ़ना होगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *