क्राइम अपडेट्स

फिर फोन पर ठगे गए चार लोग
जयपुर। आए दिन खबरें छप रही हैं। बैंक भी ग्राहकों को बता रहे हैं कि उनके यहां से फोन पर एटीएम या खाते के बारे में जानकारी नहीं ली जाती, फिर लोग लगातार ठगे जा रहे हैं। शहर में फ्राड कॉल से ठगी करने के मामले बढ़ते ही जा रहे है। साइबर ठग बैंक खाताधारकों को बैंक कर्मचारी बता अपने झांसे में ले खाता सम्बंधी जानकारी जुटा कर हजारों रुपए चूना लगा रहे हैं। खाताधारक इन कॉल्स के झांसे में आ उन्हें खाते की जानकरी दे देते हैं। रविवार को भी कमिश्नरेट के मालवीयनगर, प्रतापनगर, वैशालीनगर, कोतवाली चार थानों में साइबर ठगी के चार मामले सामने आए हैं। पुलिस साइबर ठगी के शिकार लोगों की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  
पुलिस ने बताया गणगौरी बाजार निवासी मोहन लाल पास फोन आया और उसने खुद को बैंक कर्मचारी बता कर एटीएम की जानकारी पूछ ली। फोन कटने कुछ देर बाद ही मोबाइल पर बैंक खाते से सवा लाख रुपए ट्रांसफर होने का मैसेज आया तो उसने फोन कर बैंक में पूछा तो फोन कर इस तरह की कोई जानकारी लेने के बारे में मना कर दिया। तब जाकर ठगी का पता चला। इसके बाद वह कोतवाली थाने में पहुंचा और मामला दर्ज करवाया। 
इसी तरह से मालवीयनगर थाना क्षेत्र में औद्योगिक क्षेत्र निवासी विवेक मोदी ने मामला दर्ज कराया कि उसके फास फोन आया और आईसीआईसीआई बैंक से बता एटीएम नम्बर पूछ लिए। कुछ देर बाद बैंक से रुपए निकालने का मैसेज आया। जब जाकर ठगी करने का पता चला। तीसरा मामला प्रतापनगर थाना इलाके में आया यहां पर एक युवक ने मामला दर्ज कराया कि मेरी बहिन को फोन कर खाते की जानकारी पूछ कर साढ़े चौदह हजार रुपए निकाल लिए। वहीं चौथा मामला वैशाली थाने में आया। खातीपुरा निवासी वीरेंद्र सिंह शेखावत ने मामला दर्ज कराया कि साइबर ठग ने फोन कर बैंक खाते की डिटेल पूछ कर रुपए निकाल लिए। साइबर ठगी के शिकार लोगों की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस पीडि़तों के पास आए मोबाइल नम्बरों के आधार पर आरोपियों की तलाश कर रही है। 

दुकान के ताले टूटे, सामान चोरी
जयपुर। विश्वकर्मा थाना इलाके में चोरों ने एक दुकान को निशाना बनाते हुए रात्रि में ताले तोड़ कर लाखों का सामान चोरी कर लिया। चोरी का पता सुबह मालिक के दुकान पर पहुंचने पर चला। मिलन सिनेमा के सामने एक दुकाने से चोर साठ हजार रुपए नकद, मोबाइल, लैपटॉप व चांदी के सिक्के चुरा कर ले गए। पुलिस ने पीडि़त दुकान मालिक की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी हैै।

एक और शराबी के हाथों मारी गई पत्नी
-हत्या कर भाग रहे पति को पुलिस ने दबोचा
जयपुर। चौमूं थाना इलाके में एक महिला को पति ने सिर्फ इसलिए मार डाला कि उसने सुबह-सुबह उसे शराब पीने से मना किया था। उसने पत्नी के सिर पर धारधार हथियार से हमला कर निर्मम हत्या कर दी। बच्चे यह देख बिलख पड़े लेकिन बेरहम पिता का दिल तक नहीं पसीजा। पत्नी की हत्या करने के बाद वह वहां से भाग निकाला। जिसे पुलिस ने दबोच लिया। 
पुलिस ने बताया कि डाबड़ी के रैगर मोहल्ले में रहने वाले दीपक बुनकर (28) शराब पीने का आदी था और शराब पीने के बाद वह पत्नी व बच्चों से झगड़ा करता था। दीपक की सात साल पहले रेखा (25) से शादी हुई थी। रविवार सुबह दीपक शराब पीने बैठ गया इस पर रेखा ने उसे टोक  दिया। इसी बात पर झगड़ा हो गया और दीपक ने बच्चों के सामने ही धारदार हथियार से सिर पर ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी और वहां से भाग गया।
हत्या की सूचना पाकर मोहल्ले में कोहराम मच गया। सूचना मिलते ही थानाप्राभारी जितेंद्रसिंह सौलंकी के नेतृत्व में एक टीम मौके पर पहुंची जिसने शव को कब्जे में लेकर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। आरोपी दीपक को हाईवे के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। 
बच्चे हो गए अनाथ
दीपक व रेखा के 6 और 4 साल के दो बच्चे है। अब दोनों बच्चों के सामने यह संकट खड़ा हो गया है कि वे किसके सहारे बाकी जीवन जिएंगे। पिता ने मां की हत्या कर दी और हत्या करने के आरोप में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। अब बच्चों के उपर से माता-पिता दोनों का ही साया उठ गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *