मुख्यमंत्री ने किया तीर्थराज पुष्कर में विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास

जयपुर/अजमेर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश के मंदिरों और स्मारकों के विकास के लिए 551 करोड़ रुपये की योजना बनायी है। इसके तहत 125 मंदिरों और 30 लोकदेवताओं व महापुरूषों के स्मारकों का विकास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के धार्मिक पर्यटन को मजबूत करना उनकी सरकार का लक्ष्य है। वे मंगलवार को पुष्कर में 24 करोड़ रुपए की लागत से ब्रह्मा मंदिर विकास परियोजना के भूमि पूजन तथा सावित्री माता मंदिर में 4.9 करोड़ रुपये से हुए विकास कार्यों के लोकार्पण के बाद विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रही थीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सिर्फ पत्थर पर नाम लिखकर छोड़ देना हमारी आदत नहीं। जो काम हम शुरू करते हैं, उसे पूरा भी करते हैं। उन्होंने कहा कि किशनगढ़ एयरपोर्ट निर्माण की योजना भी हमारी ही पिछली सरकार के समय की थी लेकिन बाद में कांग्रेस सरकार आ गई जिसने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने जाते-जाते सितम्बर 2013 में इसका शिलान्यास कर दिया लेकिन काम कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि फिर से हमारी सरकार बनी और हमने इस एयरपोर्ट को बनाने का काम हाथ में लिया तथा इसे पूरा किया। भूमि अवाप्ति से लेकर एयरपोर्ट के पूर्ण निर्माण तक का काम हमारी सरकार के समय में ही हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज डीजीसीए से किशनगढ़-दिल्ली फ्लाइट के लिए 50 सीटर विमान की मंजूरी भी हमने ले ली है। अब जल्द ही यहां से उड़ान शुरू होने की संभावना है।
मंदिर विकास का भूमि पूजन भी हमने किया, लोकार्पण भी हम ही करेंगे
राजे ने कहा कि सावित्री माता मंदिर के विकास कार्यों का शिलान्यास हमने ही किया था और आज हमें ही इनके लोकार्पण का पुण्य मिला है। इसी तरह ब्रह्मा मंदिर एन्ट्री प्लाजा एवं अन्य विकास कार्यों का भूमि पूजन हमने किया है। यह कार्य अगले वर्ष अगस्त तक पूरे कर लिये जायेंगे और एक भव्य कार्यक्रम में इनका लोकार्पण होगा। यहां श्रद्धालुओं को एस्केलेटर तथा रैम्प जैसी सुविधाएं मिलेगी।
पुष्कर के विकास के लिए 366 करोड़ रुपए का मास्टर प्लान
राजे ने कहा कि पुष्कर के विकास के लिए हमने मास्टर प्लान तैयार कराया है। 366 करोड़ रुपए का ये मास्टर प्लान दो चरणों का है। उन्होंने कहा कि पुष्कर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए यहां घाटों का विकास और जीर्णोद्धार भी करवाया जाएगा। ब्रह्मा मंदिर के साथ-साथ वराह मंदिर, गणेश कुण्ड और मन मंदिर का भी विकास करवाया जाएगा।
धार्मिक स्थलों की सड़कों के लिए 2000 करोड़
मुख्यमंत्री ने कहा की प्रदेश में पुष्कर-बुढ़ा पुष्कर, सलेमाबाद, खाटूश्याम जी, ब्रज चौरासी परिक्रमा, मेहन्दीपुर बालाजी, डिग्गी कल्याण, कैलादेवी तथा रामदेवरा सहित प्रदेश भर में धार्मिक स्थलों को जोडऩे के लिए 2000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से सड़कों का विकास करवाया जा रहा है।
तीर्थराज पुष्कर सरोवर को मिलेगी गंदे पानी से निजात
राजे ने कहा कि प्रसाद योजना में अजमेर और पुष्कर के पर्यटन विकास के लिए 44 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इसमें से 34 करोड़ से अधिक केवल पुष्कर में ही खर्च होंगे। पुष्कर सरोवर को गंदे पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए करीब 4 करोड़ रुपये की योजना स्वीकृत की गई है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि पुष्कर फेस्टिवल इस वर्ष 15 से 17 दिसम्बर तक आयोजित किया जाएगा।
स्व. सांवरलाल जाट को याद किया
राजे ने इस अवसर पर दिवंगत केन्द्रीय मंत्री स्व. सांवरलाल जाट को याद करते हुए कहा कि उन्होंने लोगों के दिल में अपनी अमिट छाप छोड़ी है, जो सदा बनी रहेगी।
वेदपाठ और मंत्रोच्चार से लोग हुए मंत्रमुग्ध
राजे ने सभास्थल पर कार्यक्रम शुरू होने से पूर्व वहां बड़ी संख्या में उपस्थित संत समाज से आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके बाद वेद विद्यालयों के कुमारों ने सुमंगल स्वर में वेद पाठ किया। बिहार के दरभंगा से आए डॉ. विपिन कुमार मिश्र एवं श्री अमर नाथ ने मैथिली शैली में शंख, डमरू, स्वर मंडल और तानपुरे पर शिवतांडव स्त्रोत की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, देवस्थान राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा, शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनिता भदेल, धरोहर संरक्षण एवं प्रौन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष ओंकार सिंह लखावत, देवस्थान बोर्ड के अध्यक्ष एसडी शर्मा, राजस्थान राज्य वेयरहाऊस कॉरपोरेशन के अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत, अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिवशंकर हेडा, संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत, शत्रुध्न गौतम, विधायक भागीरथ चौधरी, शंकर सिंह रावत, शंकर सिंह राजपुरोहित, महापौर धर्मेन्द्र गहलोत, जिला प्रमुख वन्दना नोगिया, अजमेर डेयरी चेयरमैन रामचन्द्र चौधरी, नगरपालिका अध्यक्ष कमल पाठक सहित श्रद्धालु एवं आमजन उपस्थित थे।
चंदन और कुमकुम के रंग में रंगेगा तीर्थराज
राजे ने पुष्कर की पवित्रता और सुंदरता बनाए रखने के लिए कहा कि तीर्थराज पुष्कर अब चंदन और कुमकुम के रंग में रंगेगा। पुष्कर की इमारतों पर चंदन का रंग होगा और दुकानों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों, संस्थाओं पर साईनबोर्ड कुमकुम के रंग से लिखे जाएंगे, ताकि इस नगरी की पवित्रता और सुंदरता नजर आए। उन्होंने कहा कि ये काम स्थानीय निवासियों तथा धर्मप्रेमियों के सहयोग से ही सम्भव हो पाएंगे।
मुख्यमंत्री धार्मिक स्थलों पर नहीं लेंगी गार्ड ऑफ ऑनर
मुख्यमंत्री ने कहा कि धार्मिक स्थल ईश्वर की सर्वोच्च सत्ता के प्रतीक हैं और इन पवित्र स्थलों पर तो सिर्फ  ईश्वर को ही प्रणाम होना चाहिए, हम जैसे ईश्वर के सेवकों को नहीं। इसीलिए आज मैंने परमपिता ब्रह्मा की इस पावन स्थली पर गार्ड ऑफ ऑनर नहीं लिया और आगे भी प्रदेश के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों पर गार्ड ऑफ ऑनर नहीं लूंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *