पुलिस मुठभेड़ में गोलियां चली, गोतस्कर की मौत, अलवर में तनाव

अलवर। शहर में से गायों को पिकअप में भर कर ले जा रहे गोतस्करों की बुधवार देर रात को जनता कॉलोनी के पास आमना-सामना हो ही गया। जहां गोतस्करों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। जहां एक गोतस्कर गोली लगने से मारा गया। वहीं अन्य गोतस्कर मौका पाकर फरार हो गए। घटना से क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई।
पुलिस ने बताया कि बीती देर रात को शहर के एक स्थान से गाय को पिकअप में धकेलते हुए सिगमा पुलिस ने देखा। जिसकी सूचना पुलिस कन्ट्रोल रूम को दी गई। पुलिस कन्ट्रोल रूप से सभी थानों को सचेत किया और गोतस्करों को पकडऩे के लिए नाकेबंदी के निर्देश दिए। सूचना पर गोतस्करों ने पहली नाकेबंदी प्रताप ऑडिटोरियम के पास तोड़ा और पुलिस पर फायरिंग करते हुए आगे निकल गए। इसके बाद गोतस्कर मोती डूंगरी व एसएमडी चौराहे के पास भी नाकेबंदी को तोड़ते हुए काली मोरी रेलवे फाटक के पास पुल से निकल गए। जनता कॉलोनी के पास एनईबी थाना पुलिस सामने आ गई तो पीछे से पीछा कर रही पुलिस के बीच गोतस्कर घिर गए। ऐसे में घबराते हुए गोतस्करों ने भाग निकलने के लिए पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जहां पुलिस को भी जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी। ऐसे में एक गोतस्कर को गोली लगी ओर वह वहीं ढेर हो गया जबकि उसके अन्य गोतस्कर साथी वाहन मौके पर ही छोड़ भागे।
शहर के पास गोतस्करों से पुलिस की मुठभेड़ की घटना ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की नींद को तोड़ दिया। सूचना पर पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश व जिला कलक्टर राजन विशाल भी मौके पर पहुंचे और घटना की पूरी जानकारी ली। पुलिस ने बताया कि फायरिंग के दौरान गोली लगने से जिस गोतस्कर की मौत हुई वह हरियाणा के नूंह थानान्तर्गत सालाहेड़ी गांव निवासी सरीफ मेव का बीस वर्षीय पुत्र तालीम मेव है। जिसका शव पुलिस को मुठभेड़ के बाद पिकअप के केबिन में मिला। मुठभेड़ में तालीम के मुंह के पास दो गोलियां लगी। मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए सामान्य चिकित्सालय के चीरघर में रखवा दिया गया है। जिसकी सूचना परिजनों को भी दे दी गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *