डूण्डलोद में सर्वसमाज से रूबरू हुईं सीएम: आप बताएं और हम सुनें, यही ‘जनसंवाद’ का मकसद: राजे

डूण्डलोद में सर्वसमाज से रूबरू हुईं सीएम: आप बताएं और हम सुनें, यही 'जनसंवाद' का मकसद: राजे

डूंडलोद। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि जनसंवाद कार्यक्रम का मकसद है, अपनी मुख्यमंत्री के समक्ष लोग अपनी बात खुलकर रखें, अपनी समस्या बताएं और उसका हम मौके पर ही समाधान करें। राजे रविवार को डूण्डलोद के शेखावाटी पब्लिक स्कूल सभागार में मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान नवलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लोगों के साथ संवाद कर रही थीं। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में जनसंवाद कार्यक्रम हुए हैं वहां के लोगों की समस्याएं मौके पर ही हल करने और बड़े कार्य बजट में शामिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं, ताकि हमें बजट बनाने से पहले पता चल सके कि जनता की अहम जरूरतें क्या हैं।

उन्होंने कहा कि अधिकारी जनता की परेषानी को समझें और संवेदनशीलता के साथ उनकी समस्याओं का निराकरण करें ताकि आमजन को इधर-उधर भटकना ना पड़े। उन्होंने कहा कि कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आपके पास आए तो उसे संतुष्ट करने का पूरा प्रयास करें।
उन्होंने अधिकारियों की ओर मुखातिब होकर कहा कि एक दिन जब आप भी रिटायर हो जाएंगे और आपको भी ऐसी ही परेशानियों का सामना करना पडे तो आपको कैसा महसूस होगा। इस बात को ध्यान में रखते हुए थोड़ी संवदेनशीलता दिखाएं और लोगों की तकलीफ समझें। राजे ने यह बात स्वच्छ भारत अभियान के तहत नवलगढ़ में निर्मित शौचालय की राशि वितरण में अनियमितता की शिकायतों के बाद कही। उन्होंने नगर पालिका की अधिशाषी अधिकारी को तुरंत ही शिकायत कर्ता के साथ मौके पर भेजा और षिकायतों की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।

ई-मित्र के औचक निरीक्षण करें अधिकारी

ई-मित्र कियोस्क संचालकों द्वारा भामाशाह सहित सरकारी योजनाओं से जुड़े दस्तावेज तैयार करने के लिए दुगुने-तिगुने चार्ज वसूलने एवं रेट लिस्ट नहीं लगाने की षिकायत पर नाराजगी दिखाई। उन्होंने कहा कि ई-मित्र कियोस्क संचालकों द्वारा ऐसा किए जाने पर उनके खिलाफ सख्त एक्षन लिया जाए और अधिकारियों द्वारा समय-समय पर औचक निरीक्षण किया जाए ताकि अनियमितता का पता चल सके।

गांवों को सड़क से जोडऩे के लिए सूची तैयार करें 

मुख्यमंत्री ने कुछ राजस्व गांवों के पंचायत मुख्यालय से सड़क के माध्यम से नहीं जुड़े होने की शिकायत पर अधिकारियों को निर्देश दिए कि ऐसे गांव जिनकी जनसंख्या 250 से ज्यादा और वे 2001 से राजस्व गांव है, के बाद भी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क से नहीं जुड़ पाए है उन्हें सड़क से जोडऩे के लिए सूची तैयार की जाए। उन्होंने कहा कि यह सूची केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय को पत्र के साथ भेजी जाए ताकि इन गांवों को सड़कों से जोड़ा जा सके। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को दुरुस्त कराने योग्य सड़कों को सूचीबद्ध करने तथा प्राथमिकता के आधार पर उनके प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए।

पौध वितरण अनियमितता की जांच के निर्देश

मुख्यमंत्री ने उद्यानिकी विभाग द्वारा बेलपत्र के पौधों को समय पर किसानों के लिए उपलब्ध नहीं कराने की षिकायत पर जिला कलेक्टर को प्रकरण की पूर्ण जांच करवाने के निर्देष दिए। मुख्यमंत्री से टोंक छीलरी के किसानों ने शिकायत की कि निजी कम्पनी द्वारा किसानों से प्रति हेक्टेयर हिस्सा राषि दुगुनी से ज्यादा वसूली जा रही है और इसकी रसीद भी नहीं दी जा रही। इसके अलावा बेलपत्र के पौधे जुलाई माह के बजाय सितम्बर-अक्टूबर में दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जनसंवाद के दौरान ही उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा तथा जिला कलेक्टर को पूरे प्रकरण की जांच कर शीघ्र ही रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।

अभयारण्य में शिफ्ट किए जाएंगे नंदी

राजे ने आवारा पशुओं से खेती को होने वाले नुकसान की समस्या के स्थाई समाधान के निर्देश दिए। उन्होंने उप वनसंरक्षक को निर्देश दिए कि आसपास के क्षेत्र में वन भूमि चिन्हित कर उसे अभयारण्य के रूप में परिवर्तित किया जाए। इस अभयारण्य के चारों ओर फेंसिंग करवाकर वहां नंदी (बैल) और दूसरे आवारा पशुओं को रखा जा सकेगा। यहां रखने से पहले सभी पशुओं की टैगिंग की जाएगी।

पट्टा वितरण के लिए लगेंगे शिविर 

मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद नगर पालिका क्षेत्र में पट्टा वितरण के लिए 26 दिसम्बर के सूरजगढ़ नगर पालिका और 3 जनवरी को नवलगढ़ में विशेष शिविर आयोजित किए जाएंगे।

आयुर्वेद हॉस्पिटल में लगाया चिकित्सक

नवलगढ़ के बलारिया में आयुर्वेदिक चिकित्सक नहीं होने की शिकायत पर राजे ने तुरंत ही आयुर्वेद चिकित्सालय बलारिया में चिकित्सक लगाने के निर्देश दिए। वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजकीय चिकित्सालय मुकुन्दगढ़ में सप्ताह में तीन दिवस के लिए महिला चिकित्सक को लगाया गया। खिरोड गांव में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ की कमी की षिकायत को गंभीरता से लेते हुए प्रतिनियुक्ति पर सीकर लगाई गई महिला स्वास्थ्यकर्ता को प्रतिनियुक्ति निरस्त कर तुरंत खिरोड लगाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद विभाग इस संबंध में आदेश जारी कर दिए। मुख्यमंत्री ने नौकायान में स्वर्ण पदक विजेता सैनिक रूपिन्द्र सिंह शेखावत एवं साउथ वेस्टर्न कमान के लीगल एडवाइजर डॉ. दशरथ सिंह शेखावत को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। राजपूत समाज एवं अन्य समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री को तलवार भेंट की एवं चुनरी ओढ़ाकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर खान राज्यमंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी, सांसद संतोष अहलावत, विधायक अभिषेक मटोरिया, संभागीय आयुक्त राजेश्वर सिंह, जिला प्रभारी सचिव संदीप वर्मा, पुलिस महानिरीक्षक हेमंत प्रियदर्षी, झुंझुनूं जिला कलेक्टर दिनेश कुमार यादव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

फतेहपुर के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर बनेगी 125 करोड़ की डीपीआर

फतेहपुर। फतेहपुर शेखावाटी शहर में पानी भरने की समस्या से अब लोगों को निजात मिलेगी। मुख्यमंत्री  वसुन्धरा राजे के निर्देश पर स्वायत्त शासन विभाग नेे फतेहपुर शहर के लिए सीवरेज और पेयजल आपूर्ति के लिए 125 करोड़ रूपए लागत की एक नई परियोजना की विस्तृत कार्ययोजना (डीपीआर) पर काम शुरू कर दिया है।

स्वायत्त शासन विभाग के प्रमुख शासन सचिव डॉ. मंजीत सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने फतेहपुर शेखावाटी में अपने जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान इस संबंध में निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया कि इस परियोजना की डीपीआर जनवरी महीने में तैयार हो जाएगी और फरवरी में इसके लिए टेण्डर जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि एशियन डवलपमेंट बैंक (एडीबी) के फेज-4 की इस परियोजना के बाद पूरे फतेहपुर शहर की सीवरेज समस्या हल होगी और साथ ही पेयजल भी उपलब्ध हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *