छात्रों के बेहतर प्लेसमेंट के लिए प्रदेश में पहली बार सेंट्रल प्लेसमेंट सेल खोली गई,: माहेश्वरी

छात्रों के बेहतर प्लेसमेंट के लिए प्रदेश में पहली बार सेंट्रल प्लेसमेंट सेल खोली गई,: माहेश्वरी

जयपुर। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से प्रदेश का युवा अब स्टार्टअप्स के जरिए उद्यमिता के क्षेत्र मेंअपने पैर जमाने लगा है। उन्होंने कहा कि सरकार उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षा के साथ युवाओं के लिए ऐसा माहौल उपलब्ध करा रही है, जिससे वे नवाचारों के लिए प्रेरित हो रहे हैं। इन शिक्षण संस्थाओं में औपचारिक शिक्षा के साथ-साथ कौशल विकास के जरिए रोजगार के ढेरों विकल्प और अवसर उनके सामने आ रहे हैं।
माहेश्वरी गुरुवार को जयपुर के होटल मेरियट में आयोजित दो दिवसीय ‘हायर एजुकेशन एंड ह्यूमन रिसोर्स कॉन्क्लेव’ के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि विभाग ने छात्रों के कौशल विकास के लिए इग्नू के साथ मिलकर राज्य के कॉलेजों में 16 नए कोर्सेज शुरू किए हैं, जिनसे विभिन्न क्षेत्रों में युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर बढ़ेंगे। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए सभी संभागों में इन्क्यूबेशन सेंटर खोले गए हैं। जिसके माध्यम से देश की बड़ी कंपनियों में छात्रों को काम करने का मौका मिल रहा है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के चेयरमैन अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा कि गुरु और शिष्य के बीच जुड़ाव में कमी ही आज की शिक्षा व्यवस्था की सबसे बड़ी खामी है। इसके लिए उच्च शिक्षण संस्थानों में आने वाले नए विद्यार्थियों के लिए तीन सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के दौरान ही छात्रों को इंटर्नशिप के जरिए उद्योगों से जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने उच्च शिक्षा में शोध और नवाचारों को प्रोत्साहित करने की जरूरत पर भी जोर दिया।
इस अवसर पर गुयाना के उच्चायुक्त डॉ. डेविड गोल्डविन पोलार्ड, अटल इनोवेशन मिशन के मिशन निदेशक रामानन रामानाथन, कॉलेज शिक्षा आयुक्त ाशुतोष पेडणेकर, मणिपाल यूनिवर्सिटी, जयपुर के अध्यक्ष संदीप संचेती, ईलेट्स टेक्नोमीडिया प्रा. लि. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. रवि गुप्ता ने भी सम्बोधित किया।
इस मौके पर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने वीडियो संदेश के जरिए अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की और कहा कि मुझे भरोसा है कि इस कॉनक्लेव में कौशल और क्षमता निर्माण समेत सभी अहम पहलुओं चर्चा होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *