प्रेरकों ने भरी हुंकार, सरकार सुन ले उनकी पुकार

प्रेरकों ने भरी हुंकार, सरकार सुन ले उनकी पुकार

-विधानसभा पर धरना

जयपुर। प्रेरकों ने सरकार के उदासीन रवैये के खिलाफ हुंकार भरते हुए मंगलवार को राजस्थान विधानसभा पर धरना दिया और सरकार को संदेश दिया कि उनकी सुनें, क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति बुरी तरह बिगड़ चुकी है।

राजस्थान प्रेरक संघ के सदस्य 22 गोदाम से रैली के रूप में विधानसभा टी पोइन्ट पहुंचे और धरना दिया। प्रेरकों का कहना है कि अल्प मानदेय पर कार्य करने के कारण उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही है।

प्रेरकों ने 14 वर्षों से लम्बित मांगों को लेकर 22 गोदाम से आक्रोश रैली निकाली। बड़ी संख्या में प्रेरक 22 गोदाम पर एकत्र हुए। वहां से ये रैली के रूम में विधानसभा टी पोइंट पहुंचे और वहां धरना दिया।

प्रेरक संघ के संरक्षक मदनलाल वर्मा का कहना था कि प्रदेश में कोटा के अलावा प्रत्येक पंचायत पर 17 हजार प्रेरक पिछले 14 वर्षों से अल्प मानदेय पर काम कर हे हैं। इस दौरान प्रेरक संघ ने रैलियां निकालीं तथा धरना-प्रदर्शन कर सरकार को अपनी मांगों से अवगत कराया परन्तु सरकार ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया। मौजूदा सरकार ने भी अपने सुराज संकल्प के घोषणा पत्र में प्रेरकों को नियमित करने का वादा किया था परन्तु सरकार के चार वर्ष पूर्व होने तक इस पर एक बार भी विचार नहीं किया गया। पिछले माह मंत्रिमंडलीय उप समिति में प्रेरकों का मुद्दा शामिल कर संघ के पदाधिकारियों को आमंत्रित किया गया था परन्तु कोई निर्णय नहीं निकला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *