भाजपा के डर के मैदान छोड़ गए कांग्रेस के दिग्गज: खन्ना

भाजपा के डर के मैदान छोड़ गए कांग्रेस के दिग्गज: खन्ना

जयपुर। राज्य में जनवरी में होने वाले दो लोकसभा अजमेर, अलवर और एक विधानसभा मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रदेश भाजपा में गुरुवार से बैठकों का दौर शुरू होगा। वहीं राजस्थान भाजपा के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा है कि उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का मैदान छोडऩा ही भाजपा की पहली जीत है। खन्ना ने कहा कि दिग्गज नेताओं को लगता था कि इन उपचुनाव में वह चुनाव हार जाएंगे।

प्रदेश भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि पार्टी पूरे दमखम के साथ उपचुनाव में उतरेगी। साथ ही केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों के आधार पर पार्टी चुनाव लड़ेगी। खन्ना ने कहा कि भाजपा कोई वन मैन पार्टी नहीं है, बल्कि एक कैडर बेस पार्टी है। उन्होंने कहा कि यहां नीचे से लेकर ऊपर तक प्रत्याशियों के चयन को लेकर राय जानी जाती है और पार्टी का कैडर चुनाव लड़ता है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा की तरफ से नाम संसदीय बोर्ड को भेजे जाएंगे, वहीं से अजमेर, अलवर लोकसभा उपचुनाव के प्रत्याशियों के नाम फाइनल होंगे। उन्होंने कहा कि गुजरात और हिमाचल की जीत के बाद भाजपा ने इतिहास रच दिया है। 19 राज्यों में भाजपा की सरकारें है। रही बात गुजरात चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन की, तो भले ही कांग्रेस ने पहले से ज्यादा सीटें ज्यादा जीती हो, लेकिन बात सरकार बनाने की है, जो जीता वही बादशाह होता है।

आपको बता दे कि अलवर लोकसभा से कांग्रेस ने डॉ कर्ण सिंह यादव को चुनाव मैदान में उतारा है, जबकि पहले यहां से पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह के चुनाव लडऩे की चर्चा थी। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट के अजमेर लोकसभा उपचुनाव लड़ेंगे या नहीं, यह तस्वीर भी साफ नहीं हो सकी है। इसके अलावा मांडलगढ़ से पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. सीपी जोशी के चुनाव लडऩे की चर्चा थी, इस बात को लेकर भी तस्वीर अभी तक साफ नहीं हो सकी है। चर्चा यह है कि इन तीनों दिग्गजों ने चुनाव लडऩे से साफ इनकार कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *