संविधान में महिलाओं को बराबरी का अधिकार: सुमन

संविधान में महिलाओं को बराबरी का अधिकार: सुमन

राज्य महिला आयोग द्वारा जिला परिषद सभागार में महिला जनसुनवाई सम्पन्न
जयपुर। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा है कि लोकतंत्र में सभी को समानता का अधिकार है। लोकतंत्र में महिलाओं को खुला आसमान मिलता है, इससे महिलाएं मजबूत होती है और उन्हें आगे बढऩे के समान अवसर प्राप्त होते है। यहीं लोकतंत्र की सबसे बड़ी सफलता है।
सुमन शर्मा गुरुवार को जिला परिषद जयपुर के सभागार में महिला जनसुनवाई कार्यक्रम में बोल रही थी। महिला जनसुनवाई कार्यक्रम में जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन सहित महिला आयोग की सचिव अमृता चौधरी तथा सदस्य डॉ. रीटा भार्गव व डॉ. अरूणा मीणा ने विभिन्न प्रकरणों में सुनवाई की। जन सुनवाई में महिलाओं की विभिन्न समस्याओं एवं प्रकरणों में अपहरण, दहेज कू्ररता, हत्या, द्विविवाह, दहेज हत्या, भरण पोषण भत्ता, धमकी, भूमि विवाद, हिंसा, हत्या का प्रयास, यौन उत्पीडऩ, बाल विवाह तथा तलाक आदि से संबंधित 37 प्रकरण प्राप्त हुए है। इन प्रकरणों की सुनवाई करते हुए इनके समाधान एवं आवश्यक कार्यवाही करते हुए परिवादियों को न्याय दिलाने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को मौके पर निर्देश प्रदान किए गए।
जन सुनवाई में अतिरिक्त जिला कलक्टर (उत्तर) मोहम्मद अबूबक्र, जिला परिषद की अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनिता चौधरी, महिला आयोग के रजिस्ट्रार अजय शुक्ला, महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक जय श्री ठागरिया, महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक राजेश डोगीवाल सहित पुलिस व प्रशासन तथा अन्य विभागों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *