सियासत: विधायक राजकुमार ने विधानसभा से इस्तीफा दिया

सियासत: विधायक राजकुमार ने विधानसभा से इस्तीफा दिया

जयपुर। चिकित्सकों की हड़ताल के बाद सियासत जोरों पर हैं। हड़ताल के दौरान जब मरीज मर रहे थे तो भाजपा के भी विधायक नदारद थे और कांग्रेस के नेता भी सिर्फ बयानों की जुगाली कर रहे थे। अब डाक्टरों की हड़ताल के कारण कई लोगों की मौत के विरोध में निर्दलीय विधायक राजकुमार शर्मा ने सोमवार को विधायकी से इस्तीफा दे दिया। राजकुमार ने इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल को सौंपा। मेघवाल ने कहा कि विधायक राजकुमार का इस्तीफा मिला है, विधायक ने अपनी पीड़ा लिखी है, मैं अपने विवेक से इस पर फैसला करूंगा। सरकार तक विधायक की पीड़ा पहुंचा दूंगा, गंभीर मामलों में चिंतन होना चाहिए।

राजकुमार ने कहा कि डॉक्टरों की हड़ताल समय से खत्म करा पाने में सरकार नाकाम रही है। स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ को अपना इस्तीफा देना चाहिए था या फिर सरकार को उन्हें बर्खास्त करना चाहिए था। दोनों में से कुछ भी नहीं किया गया। ऐसे में मैं पूरे प्रकरण से आहत होकर विधानसभा की सदस्यता से त्याग पत्र दे रहा हूं। शर्मा ने आरोप लगाया की डॉक्टरों की हड़ताल को भड़काने का काम सरकार ने ही किया। इसके कारण सैकडों लोगों की जान गई। जो हड़ताल शुरू में ही खत्म हो जाती उसे 12 दिन चलाया गया। मंत्री ने डॉक्टर्स के जानबूझ कर तबादले किए गए जिससे डाक्टर भड़के। हुआ भी कुछ ऐसा, जिसके कारण मरीजों की जानें चली गईं। राज्य के लिए यह बेहद दुर्भाग्य है कि प्रदेश सरकार जनता के प्रति संवेदनशील नहीं है।

गौरतलब है कि शर्मा तीन दिन पहले शुक्रवार दोपहर एक बजे अपना इस्तीफा देने के लिए विधानसभा पहुंचे थे, लेकिन स्पीकर कैलाश मेघवाल के विधानसभा में नहीं होने के कारण वे इस्तीफा नहीं दे पाए थे। मेघवाल ने उन्हें एक जनवरी को बुलाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *