विश्व का सबसे बड़ा स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 प्रदेश में प्रारम्भ

विश्व का सबसे बड़ा स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 प्रदेश में प्रारम्भ

-स्वायत्त शासन विभाग ने सभी नगरीय निकायों को दिये निर्देश

जयपुर। विश्व के सबसे बड़े स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 के तहत केन्द्र सरकार की संस्था ‘कर्वीÓ द्वारा प्रदेश की आठ नगरीय निकायों में निरीक्षण कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

निदेशक एवं संयुक्त सचिव स्वायत्त शासन विभाग पवन अरोड़ा ने सभी नगरीय निकायों को निर्देशित किया है कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 नागरिको की भागीदारी एंव सिटीजन फिडबैक पर आधारित है। सर्वेक्षण मे नागरिकों की भागीदारी एवं फीडबैक के 1400 अंक निर्धारित किये गये है। जो कि कुल अंकों का 350 प्रतिशत है। उन्होंने सभी नगरीय निकाय से कहा है कि वे अपने-अपने क्षेत्र में रहने वाले नागरिको को इस सर्वेक्षण से जोड़े व उन्हें सर्वेक्षण की जानकारी दें एवं उनका फिडबैक लें। इस प्रक्रिया से नगरीय निकाय स्वच्छ सर्वेक्षण के कुल 1400 अंकों मे से अधिक से अधिक अंक हासिल करके सर्वेक्षण मे अच्छी रैकिंग प्राप्त कर सकेंगें।

उन्होंने बताया कि सिटीजन फिडबैक में मुख्यतया: जिन बिन्दुओं पर फिडबैक लिया जाना है उनमें मुख्य रूप से पुछे जाने वाले प्रश्नों में नागरिकों से पूछा जायेगा कि क्या आपको जानकारी है आपका शहर स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में भाग ले रहा है? (175 अंक), क्या पिछले साल के मुकाबले आपका क्षेत्र साफ है ? (175 अंक), इस साल क्या आपने सार्वजनिक क्षेत्रो में कूडे/कचरे के डिब्बे का उपयोग शुरू कर दिया है? (150 अंक), क्या आप इस वर्ष अपने घर से अलग-अलग कचरा एकत्र (गीला कचरा हरे डिब्बे मे एवं सूखा कचरा नीले डिब्बे मे) किये जाने की व्यवस्था से संतुष्ट है? (175 अंक), क्या आपको लगता है कि पिछले वर्ष के मुकाबले मूत्रालयों/शौचालयों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है, जिससे खुले मे पेशाब/शौच कम हो गया है। (150 अंक), क्या सामुदायिक/सार्वजनिक शौचालया अब अधिक साफ एंव सुलभ है? (175 अंक), क्या आपके शहर मे स्वच्छता ऐप डाउनलोड कर उसका उपयोग चालू कर दिया है ? (150 अंक) तथा निकाय द्वारा निर्धारित समय सीमा 2 घण्टे में शिकायतों का निवारण किया जा रहा है? (150 अंक), क्या आपका शहर स्वच्छता एप आधारित रैंकिग मे अपै्रल 2017 और दिसम्बर 2017 मे मध्य शीर्ष शहरों मे प्रदर्षित किया गया है ? (100 अंक)

उन्होनें बताया कि नगरीय निकाय क्षेत्रों में रहने वाले नागरिक अपना फीडबैक टोल फ्री न. 1969 पर कॉल करके, स्वच्छ भारत मिषन (शहरी) की वेबसाइट 222.ह्य2ड्डष्द्धद्धह्यह्वह्म्1द्गद्मह्यद्धड्डठ्ठ20 18.शह्म्द्द तथा ‘स्वच्छता ऐपÓ के माध्यम से भेज सकते हैं, साथ ही नगर निकाय द्वारा निर्धारित टोल फ्री नम्बर तथा राज्य स्तरीय टॉल फ्री नम्बर (18001806127) पर भी फीडबैक लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नगरीय निकाय अपने शहर मे आई.ई.सी. गतिविधियों के माध्यम से नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *