भावी पीढ़ी का चरित्र निर्माण करने वाली हो शिक्षा: मुख्यमंत्री

भावी पीढ़ी का चरित्र निर्माण करने वाली हो शिक्षा: मुख्यमंत्री

जयपुर/बांसवाड़ा। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि शिक्षा ऐसी हो जिससे हमारी भावी पीढ़ी का चरित्र निर्माण हो और वे बेहतर नागरिक बन सकें। उन्होंने कहा कि विद्याभारती द्वारा संचालित विद्यालय इसी प्रकार की शिक्षा के माध्यम से समाज को नई दिशा देने का कार्य कर रहे हैं। यह संस्था 12 हजार 364 पूर्ण विद्यालय तथा 12 हजार से अधिक संस्कार केन्द्रों के माध्यम से 34 लाख से अधिक बच्चों को शिक्षा दे रही है।

मुख्यमंत्री राजे सोमवार को बांसवाड़ा जिले के कोठारा गांव में विद्या भारती जनजाति समिति राजस्थान के तत्वावधान में विद्या निकेतन माध्यमिक विद्यालय के नवनिर्मित भवन के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि विद्या भारती संस्थान ने जिले के जनजाति क्षेत्र में भी श्रेष्ठ कार्य किया है और बहुत कम समय में देशभर में पहचान बनाई है। मुख्यमंत्री ने जनजाति क्षेत्र के लिए गत दिनों की गई घोषणाओं के बारे में बताते हुए कहा कि इस क्षेत्र में जनजाति बीपीएल काश्तकारों के कुओं को गहरा कराया जाएगा। सर्वे के अनुसार 18 हजार कुओं को गहरा कराने की योजना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र में बिजली के लिए गत चार वर्षों में 300 करोड़ रुपए व्यय किये गए हैं। आगामी एक साल में 100 करोड़ रुपये और व्यय करने की योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *