वेद पीठ पर 11 लाख बीज मंत्र जाप के साथ की सूर्योपासना

वेद पीठ पर 11 लाख बीज मंत्र जाप के साथ की सूर्योपासना

चितौडग़ढ़ (विवेक)। निम्बाहेड़ा के प्रसिद्ध श्री शेषावतार कल्ला जी वेद पीठ पर मकर सक्रांति के पावन पर्व के उपलक्ष्य में भगवान सूर्य देव के बीज मंत्र के 11 लाख जाप के साथ सूर्योपासना के विविध अनुष्ठान किये गये वहीं गंगा स्नान, गौ सेवा, पक्षी सेवा कर श्रद्धालुओं ने पुण्य अर्जन का स्तुत्य प्रयास किया। इस मौके पर वेद पीठ पर विराजित ठाकुर जी का वेद गुरू भगवान भास्कर के स्वरूप में सजी ठाकुर जी की मनोहारी झांकी के दर्शनों के लिए सवेरे से रात्री तक कल्याण भक्तों का तांता लगा रहा।

वेद पीठ के प्रवक्ता ने बताया कि प्रात: वेद पीठ पर सूर्य यंत्र का सूर्य सुक्त से अभिषेक करने के साथ जाप अनुष्ठान में वेदपीठ के आचार्यों, बटुकों, वीर एवं वीरांगनाओं तथा बड़ी संख्या में कल्याण भक्तों ने भागीदारी निभाई वहीं वेदपीठ परिसर में कल्याण भक्तों का सामूहिक गंगा स्नान का दृष्य गंगा सागर पर किये जाने वाले स्नान के समदृष्य था। अनुष्ठानों की कड़ी में सूर्य यज्ञ में भक्तों द्वारा गौ घृत एवं शाकल्य की अहुतियां देकर भगवान सूर्य देव से आराधना की गई कि भारत को एक बार फिर विश्व गुरू बनाने की भावना से ठाकुर जी की प्रेरणा से स्थापित किये जा रहे श्री कल्लाजी वेदिक विष्व विद्यालय को शीघ्र मूर्त रूप प्रदान कर लुप्त होती वेदिक संस्कृति को संरक्षण का आषीर्वाद दें। इसी प्रकार कल्याण लोक स्थित कल्याण गौशाला में कल्याण नगरीवासियों के साथ जावदा, धीनवा एवं अन्य गांवों के श्रद्धालुओं ने सामूहिक रूप से गौ पूजन कर गायों को हरा चारा व लापसी खिलाई तथा पीठ की ओर से विभिन्न स्थानों पर कबूतरों को दाना चुगाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *