राज्य के इतिहास का स्वर्णिम समय शुरू/देश के हालातों के लिए कांग्रेस जिम्मेदार: मोदी

राज्य के इतिहास का स्वर्णिम समय शुरू/देश के हालातों के लिए कांग्रेस जिम्मेदार: मोदी

-पचपदरा रिफाइनरी का किया कार्य प्रारंभ

जयपुर/बाड़मेर। प्रदेश के इतिहास में मंगलवार को उस समय स्वर्णिम काल का आगाज हुआ जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश की पहली रिफायनरी की नींव रखी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बाड़मेर के पचपदरा में मंगलवार को रिफाइनरी के कार्य का शुभारंभ किया। उनका मारवाड़ी पगड़ी पहनाकर स्वागत किए गया। साथ ही पीएम मोदी ने विशाल जनसभा को राजस्थानी भाषा में नमस्कार कहा। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने विशाल जनसभा को खम्मा घणी राजस्थान कहते हुए भाषण की शुरूआत की।

मोदी ने कहा कि दो दिन पहले देश के हर कोने में मकर सक्रांति का पर्व मनाया गया। जिसके बाद राजस्थान की धरती पर पूरे हिंदुस्तान को उर्जावान बनाने का एक अहम प्रयास। एक अहम प्रकल्प। उसका आज कार्यक्रम आरंभ हो रहा है। मैं वसुंधरा जी का और धर्मेंद्र प्रथान जी का अनिनंदन करता हूं कि उन्होंने कार्य आरंभ करने का प्लान बनाया। जिसके बाद कोई भी सरकार हो या नेता पत्थर लगाएगा तो लोग पूछेंगे पत्थर तो लगा दिया कार्य आरंभ की डेट तो बताओ। इस कार्यक्रम आरंभ के बाद लोगों में जागरुकता आएगी। मुझे विश्वास दिलाया गया है कि 2022 में इसका उद्घाटन किया जाएगा।

राजपूतों की नाराजगी को खत्म करने का प्रयास
मोदी के भाषण में प्रदेश के राजपूतों को राजी करने की कोशिश भी नजर आई। इसके लिए उन्होंने पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत और पूर्व विदेश मंत्री जसवंत को याद किया। मोदी ने कहा कि मैं गुलाबचंद जी के कार्यों को नमन करता हूं। उनके कामों को ये क्षेत्र याद करता है। पीएम ने कहा कि भैरोसिंह शेखावत ने आधुनिक राजस्थान के लिए काम किया। इस रिफायनरी का सपना भैरोसिंह शेखावत ने देखा था। पीएम ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस और अकाल जुड़वा भाई है। जब भी कांग्रेस जाएगी वो आकाल साथ-साथ जाएगा। पीएम ने कहा कि हमने वन रैंक वन पेंशन को लागू किया। कांग्रेस ने इसके नाम पर भी गुमराह किया। जिसके बजट में 500 करोड़ रुपए लिखे गए थे। जब हमने हिसाब किया तो मामला 12 हजार करोड़ से ज्यादा का निकला।
कांग्रेस जैसे पत्थर लगाती है, वैसे ही बजट में 500 करोड़ लिख दिए गए। हमने सेना के अधिकारियों को बुलाकर मदद मांगी। इससे पहले तो वन रैंक वन पेंशन कागज पर भी नहीं थी। मुझे कागज जुटानें में ही वक्त लग गया। जिसके बाद 10 हजार 4 करोड़ रुपए खातों में पहुंचाए। बाकी भी जल्द ही पहुंच जाएगा।

कांग्रेस सिर्फ पत्थर लगाती है लेकिन हम काम करते हैं: राजे
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि ये एक ऐतिहासिक मौका है। कांग्रेस सिर्फ वोट पाने के लिए पत्थर लगाती है। कांग्रेस ने जल्दबाजी में पचपरदा रिफाइनरी का फैसला लिया था, लेकिन उन्हे ये भी नहीं पता था कि किस जमीन पर प्रोजेक्ट लगाना है। हम पत्थर नहीं लगाते काम करते हैं। जीतेगा तो सिर्फ विकास जीतेगा। उन्होंने कहा कि रेगिस्तान की मिट्टी सोना उगलेगी। हम सपने नहीं दिखाते। उन्हें सच करते हैं। इस प्रोजेक्ट से राजस्थान के हर बच्चे को रोजगार मिलेगा। ये एक आधुनिक प्लांट है। शिलान्यास कार्यक्रम में पीएचईडी मंत्री सुरेन्द्र गोयल, खान राज्यमंत्री सुरेंद्र पाल सिंह टीटी, राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चौधरी, प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, विधायक कैलाश चौधरी, जोधपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष महेंद्रसिंह राठौड़, सांसद दुष्यंत सिंह, कर्नल सोनाराम, मुख्य सचिव निहालचंद गोयल, पुलिस महानिदेशक ओपी गल्होत्रा, प्रमुख शासन सचिव खान एवं पेट्रोलियम अपर्णा अरोरा तथा एचपीसीएल के सीएमडी एमके सुराणा सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

राजस्थान के बलिदान की गाथा के बिना इतिहास अधूरा
मोदी ने अपने सम्बोधन में कहा कि संतों की इस भूमि को मैं ह्रदय ने नमन करता हूं। रिफायनरी के लिए राजस्थान की जनता को बहुत-बहुत शुभाकामनाएं देता हूं। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि राजस्थान के बलिदान की गाथा के बिना इतिहास अधूरा है। राजस्थान के वीर सपूतों को मैं नमन करता हूं। राजस्थान के इस स्वर्णिम सफर की शुरूआत का हिस्सा बनकर मैं खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं।

प्रधानमंत्री ने किया विकास प्रदर्शनी का अवलोकन
मोदी ने रिफायनरी कार्य शुभारम्भ स्थल पर लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया तथा बेहद प्रभावित हुए। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान की प्रशंसा की तथा इससे होने वाले व्यापक प्रभावों के प्रति खुशी जाहिर की। इस दौरान मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान भी उनके साथ थे। प्रधानमंत्री ने एचपीसीएल के अधिकारियों से रिफायनरी कार्य के दौरान पानी की उपलब्धता एवं उपयोग की जानकारी ली। उन्होंने प्रदर्शनी में रिफायनरी के मॉडल को देखा तथा संबंधित अधिकारियों द्वारा रिफायनरी कार्य की सम्पूर्ण प्रक्रिया को जाना। मोदी ने प्रदर्शनी में राज्य के सफलतम एवं अभिनव कार्यक्रम मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान की झलक देखी। इसके साथ ही राजश्री योजना, आदर्श विद्यालय, ग्रामीण गौरवपथ, अनार-खजूर एवं बेर की खेती, भामाशाह योजना, अन्नपूर्णा योजना तथा साइकिल वितरण योजना के प्रभावी क्रियान्वन की भी बारीकी से जानकारी ली।

राजे राजघराने से लेकिन राजस्थान का पानी पीकर समझदार हुईं
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि वसुन्धरा राजे यूं तो राजघराने से हैं लेकिन राजस्थान का पानी पीकर समझदार हो गई हैं। वे जिस काम की ठान लेती हैं उसे करके ही मानती हैं। राजे ने रिफायनरी के लिए जो चालीस हजार करोड़ रुपए कम कराए, उससे उन्होंने हमें (केन्द्र सरकार) को नुकसान करा दिया लेकिन राज्य की जनता के लिए उन्होंने फायदा कराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *