तोगडिय़ा का नरेन्द्र मोदी पर प्रहार: दिल्ली के इशारे पर काम कर रही क्राइम ब्रांच

तोगडिय़ा का नरेन्द्र मोदी पर प्रहार: दिल्ली के इशारे पर काम कर रही क्राइम ब्रांच

विभिन्न टीवी चैनलों से प्राप्त रिपोर्ट

विश्व हिंदू परिषद के अन्तरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने बुधवार को अस्पताल से छुट्टी मिलते ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर करारा प्रहार किया और कहा कि दिल्ली के इशारे पर क्राइम ब्रांच काम कर रही है।

तोगडिय़ा ने चन्द्रमणि अस्पताल से डिस्चार्ज होने के तुरन्त बाद पत्रकार वार्ता में मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। कहा, क्राइम ब्रांच दिल्ली के इशारे पर काम कर रही है। नकली वीडियो बनाकर मुझे बदनाम करने की साजिश की जा रही है। वे क्राइम ब्रांच के खिलाफ कानूनी कदम उठाएंगे। वे सोमवार को अहमदाबाद में रहस्यमय तरीके से लापता हो गए थे। करीब 12 घंटे बाद वो बेहोश मिले थे।
उन्होंने कहा कि नकली वीडियो बनाकर मुझे बदनाम करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। मुझे गुजरात की पुलिस पर गर्व है, लेकिन मुझ पर दाग लगे.. ऐसी कोशिश क्राइम ब्रांच और के कुछ अधिकारी कर रहे हैं। राजस्थान पुलिस ने मेरे खिलाफ केस रद्द किया है। संजय जोशी की सेक्स सीडी किसने बनाई थी, ये मुझे पता है और मैं समय आने पर बताऊंगा।

तोगडिय़ा ने मांग की है कि जेके भट्ट की इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल डिटेल सार्वजनिक की जाए। प्रधानमंत्री के साथ उनकी बात हुई है, तो इसे भी साफ किया जाए। जेके भट्ट दिल्ली के पॉलिटिकल बॉस के इशारे पर साजिश रच रहे हैं और देशभक्त कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है।

ये था मामला
तोगडिय़ा के खिलाफ सवाई माधोपुर जिले के गंगापुर सेशन्स कोर्ट में करीब 10 साल पुराना निषेधाज्ञा उल्लंघन का मामला दर्ज है। उनके खिलाफ इस मामले में गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। इसी को लेकर वहां की पुलिस सोमवार को सुबह करीब 10 बजे सोला इलाके में उनके घर पहुंची थी। इसके बाद से ही वो रहस्यमय तरीके से लापता हो गए थे। लापता होने के बाद वीएचपी ने विरोध में सोला पुलिस स्टेशन पर प्रदर्शन भी किया था। अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, सुरेन्द्रनगर समेत कई जगहों पर चक्काजाम और प्रदर्शन भी किया गया था।

तोगडिय़ा के एनकांउटर की बात को कटारिया ने नकारा
जयपुर। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा के लापता होने का मामला तूल पकडऩे लगा है। तोगडिय़ा की ओर से पुलिस और आईबी पर उनका एनकाउंटर करने की आशंका जताने का आरोप लगाने के बाद अब राज्य सरकार बचाव में आ गई है।
गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने इसे निराधार करार देते हुए कहा कि कागजों के सही जगह पर नहीं पहुंचने की गफलत में ही सब कुछ हुआ है, क्योंकि सरकार ने करीब 3 साल पहले ही उन पर लगे इस केस को वापस लेने को मंजूरी दे दी थी। साथ ही उन्होंने माना कि अदालत के आदेश की तामील करने राजस्थान पुलिस का एएसआई गुजरात पुलिस की सहायता से उनके सुरक्षाकर्मी को सम्मन तामील करा कर वापस लौट आया था। ऐसे में तोगडिय़ा को उनके एनकाउंटर की खबर कहां से और क्यों मिली इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। गृहमंत्री ने तोगडिय़ा पर चल रहे केस को वापस लिए जाने के कागजों का अदालत में वक्त पर नहीं पहुंचने को भी गंभीर मामला बताते हुए जांच की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *