उड़ान से षिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन नतीजे: कलेक्टर

उड़ान से षिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन नतीजे: कलेक्टर

चित्तौडग़ढ़ (विवेक वैष्णव)।

जून 2018 तक जिले की प्रत्येक बालिका विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करें इसी लक्ष्य को लेकर जिले में नवाचार के तहत उड़ान कार्यक्रम एक वर्ष पूर्व चालू किया गया था और शिक्षा के क्षेत्र में इसके बेहतरीन नतीजे भी सामने आये है। यह बात जिला कलेक्टर ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट के समिति कक्ष में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

जिला कलेक्टर इन्द्रजीतसिंह ने उड़ान कार्यक्रम के एक वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि जिले में शिक्षा खासकर बालिका षिक्षा को लेकर उत्साह है। उन्होंने कहा कि एक साल में कैम्पेन चलाकर परिणाम हासिल करना एक मुश्किल कार्य था। सरकार का हरेक को शिक्षा का दायित्व पूर्ण करने के लिए जिले में ‘उड़ता विद्यालयÓ की संकल्पना की गई है। इस संकल्पना में विद्यालय की आधारभूत संरचना, विद्यार्थियों का नामांकन, ठहराव, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा आदि मापदण्डों के आधार पर श्रेष्ठ विद्यालय को उड़ता विद्यालय के रूप में विकसित करने के लिए प्रस्तुत की गई है। इस व्यवस्था के तहत आधारभूत संरचना हेतु 35 अंक, नामांकन हेतु 15 अंक, ठहराव हेतु 20 अंक, गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा हेतु 20 अंक एवं अन्य व्यवस्थाओं हेतु 10 अंक निर्धारित किये गये है।

घर घर सर्वे का कार्य
जिला कलेक्टर इन्द्रजीतसिंह ने पत्रकार वार्ता में बताया कि सकारात्मक सोच के लिए जिले की जनता तैयार रहती है। उन्होंने बताया कि जिले में साक्षरता की दृश्टि से महिला एवं पुरूष के बीच में 40 प्रतिषत का अंतर है। इसके लिए जिले में आधार की तरह सर्वे का कार्य किया गया और 74 मास्टर ट्रैनर्स एकत्रित कर ट्रेनिंग दिलाई गई और 3.5 लाख घरों का दरवाजा खटखटाकर 3 लाख स्कूल जाने लायक बच्चों का सर्वे कर जानकारी जुटाई गई। पत्रकार वार्ता के दौरान अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपेन्द्रसिंह सहित शिक्षा विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *