पद्मावत विवाद: राजपूत नेताओं की गिरफ्तारी शुरू, हरियाणा में बस फूंकी, जयपुर-दिल्ली हाइवे जाम: Padmavat controversy: Rajput leaders begin arrest, bus flown in Haryana, Jaipur-Delhi highway jam

पद्मावत विवाद: राजपूत नेताओं की गिरफ्तारी शुरू, हरियाणा में बस फूंकी, जयपुर-दिल्ली हाइवे जाम:  Padmavat controversy: Rajput leaders begin arrest, bus flown in Haryana, Jaipur-Delhi highway jam

-रिलीज की उल्टी गिनती शुरू, कल सिनेमाघरों में उतरेगी विवादास्पद फिल्म

विभिन्न टीवी चैनलों से प्राप्त जानकारी के अनुसार

पद्मावत फिल्म की रिलीज के एक दिन पूर्व पांच राज्यों में विरोध मुखर हो गया है। हरियाणा के गुरूग्राम में एक बस को आग के हवाले कर दिया गया तथा जयपुर दिल्ली हाइवे जाम किया गया है। दूसरी तरफ राजस्थान में कुछ राजपूत नेताओं की गिरफ्तारी की खबर है। करण सेना के सुप्रीमो लोकेन्द्रसिंह कालवी ने जयपुर में प्रेस कांफ्रेंस की।

इस फिल्म रिलीज की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। कल यानी 25 जनवरी को फिल्म सिनेमाघरों में उतरेगी। हालांकि राजस्थान में सिनेमाघरों ने फिल्म रिलीज नहीं करने का फैसला किया है। बुधवार को चित्तौडग़ढ़ किला बंद कर दिया गया है। गुजरात और हरियाणा में प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाकर हाईवे जाम कर दिए। हरियाणा के गुरुग्राम में प्रदर्शनकारियों ने बस जला दी। वहां और चंडीगढ़ समेत हरियाणा के 4 शहरों में धारा 144 लगाई गई है। इस बीच राजस्थान की राजधानी जयपुर के राजपूत सभा भवन में करणी सेना के चीफ लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा- फिल्म को हम देश में रिलीज नहीं होने देंगे। महाराष्ट्र पुलिस ने बुधवार को फिल्म के विरोध में तोडफ़ोड़ करने वाले 30 लोगों को हिरासत में ले लिया। इस बीच सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट मनोहर लाल शर्मा ने एक अर्जी दायर की है। इसमें फिल्म के कुछ सीन हटाने की मांग की गई है। इस पर सोमवार को सुनवाई होगी।

राज्य में मंगलवार सुबह से ही चित्तौडग़ढ़ किले को बंद रखा गया है। शहर में सुरक्षा काफी सख्त की गई है। राजपूतों ने निम्बाहेड़ा में टायल जलाकर दिल्ली-जयपुर हाईवे जाम किया। संजय लीला भंसाली के विरोध में और महारानी पदमिनी के सम्मान में नारेबाजी की। हरियाणा के गुडग़ांव, फरीदाबाद, चंडीगढ़, पंचकूला, कुरुक्षेत्र और पलवल में कुछ जगहों पर धारा 144 लगाई गई है। गुडग़ांव के सिनेमाहॉल और मल्टीप्लेक्स के 200 मीटर दायरे में प्रदर्शनों पर पूरी तरह से रोक है। गुडग़ांव में फिल्म के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने वजीरपुर-पटौदी रोड को जाम किया।

गुजरात के अहमदाबाद में राजपूत संगठन के लोगों ने मंगलवार रात कई गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया। तीन से चार मॉल में तोडफ़ोड़ और पथराव हुआ। बुधवार को यहां 44 लोगों को हिरासत में लिया गया। पीएसआई की 241 और आरएएफ की 8 कंपनियां तैनात की गई हैं। मेहसाणा समेत नॉर्थ गुजरात के कुछ हिस्सों में सोमवार को बसों को आग में आग लगाई गई। जिसके बाद गुजरात स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन ने गांधीनगर, मेहसाणा और बनासकांठा में बस सर्विस को कुछ वक्त के लिए रोक दिया था।

मध्यप्रदेश में फिल्म पद्मावत के रिलीज के विरोध में राजपूत समाज सहित हिन्दू संगठनों ने भोपाल कलेक्टोरेट का घेराव किया। दूसरी ओर रायल राजपूत संगठन के लोगों ने भी भोपाल में ज्योति टॉकीज के बाहर प्रदर्शन किया। करणी सेना, राजपूत समाज, संस्कृति बचाओ मंच, हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग दल और ब्राह्मण समाज ने चक्काजाम के दौरान नारेबाजी भी की। महाराष्ट्र के मुंबई में फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। तोडफ़ोड़ की कोशिश कर रहे 30 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

गोली का भी डटकर करेंगे सामना: कालवी

करणी सेना के संरक्षक लोकेद्र सिंह कालवी ने बुधवार को जयपुर में प्रेस कांफ्रेंस की है। कालवी ने कहा कि मुझे जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है लेकिन गोली चलें या कुछ भी हो अब हम रूकने वाले नहीं है। फिल्म पद्मावत देश भर में कल यानि गुरूवार 25 जनवरी को देशभर में रिलीज होने वाली है। चित्तौडग़ढ़ में भी राजपूत महिलाओं ने जौहर करने की धमकी तक दे डाली है।

फिल्म पद्मावत के बैन को लेकर राजस्थान में कई जगहों पर हंगामा विरोध प्रदर्शन और आगजनी हुई है। हालांकि प्रदेश में पुलिस ने स्थितियों पर काबू पाने का हरसंभव प्रयास कर रही है। हमले की आशंका के चलते पूरे प्रदेश की पुलिस अलर्ट पर है। करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र कालवी ने साफ किया है कि इस फिल्म को किसी भी हाल मेें राजस्थान में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा। कालवी ने कहा कि मुझे पुलिस गिरफ्तार करना चाहती है लेकिन चाहें कुछ भी हो जाए प्रदेश में तो ये फिल्म रिलीज नहीं होने दी जाएगी। करणी सेना ने साफ कर दिया है कि इस फिल्म के बैन के अलावा उनकी कोई मांग नहीं है। अब करणी सेना उस जगह विरोध प्रदर्शन करेगी, जिस जगह इस फिल्म को रिलीज किया जा रहा है। कालवी ने कहा कि जिस तरह से फिल्मकारों की आदत हो गयी है कि विवाद पैदा करने के बाद उस फिल्म की पब्लिसिटी कर दी जाए लेकिन इस बार ये नहीं हो सकेगा। एक बार फिर से कालवी ने जनता कफ्र्यू का आह्वान किया है।कालवी ने कहा कि फिल्म के विरोध जो भी हिंसा हो रही है उसका जिम्मेदार करणी सेना नहीं बल्कि संजय लीला भंसाली है। करणी सेना ने आज एक बार फिर सीबीएफसी अध्यक्ष प्रसून जोशी को जयपुर नहीं आने की धमकी दी है। करणी सेना के अध्यक्ष महिपाला मकराना ने कहा कि हमने संजय लीला भंसाली को भी कहा था कि राजस्थान में ना आए वो आए और नतीजा सबके सामने है। अब अगर प्रसून जोशी आते हैं तो नतीजा वहीं होगा जो भंसाली का हुआ था। वहीं जब पत्रकारों ने पूछा कि राजस्थान के लोग भी ये फिल्म देखना चाहते हैं तो महिपाल मकराना ने कहा कि जो राजस्थानी इस फिल्म को देखना चाहता है उसे राजस्थानी कहलाने का हक ही नहीं है, और उन्हें राजस्थान छोड़कर चले जाना चाहिए।

सिनेमाघरों के आसपास रहेगी धारा 144
फिल्म के रिलीज होने को लेकर प्रशासन की ओर से पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। सिनेमाघरों के एक किमी दायरे में निषेधाज्ञा लागू रहेगी। पुलिस प्रशासन ने सिनेमाघरों को सुरक्षा देने के लिए तैयारियां कर ली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *