कवि सम्मेलन ‘देशराग onword 26th january

कवि सम्मेलन 'देशराग onword 26th january

हरिओम पंवार को मिलेगा अखिल भारतीय कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी हिन्दी सेवा सम्मान

जयपुर/ प्रदेश की राजधानी जयपुर के बाशिंदे गणतंत्र दिवस की संध्या पर शुक्रवार को वीर रस की कविताओं से सरोबार होने के साथ ही हास्य और व्यंग्य की कविताओं से लोट-पोट होंगे। इतना ही नहीं वे कॉमेडी से भरपूर कविताओं से गुदगुदाएंगे। यह मौका दैनिक नवज्योति की ओर से आयोजित राष्ट्रीय कवि सम्मेलन देशराग में मिलेगा।

दैनिक नवज्योति के निदेशक हर्ष चौधरी ने बताया कि यह कवि सम्मेलन 26 जनवरी को शाम छह बजे बी एम बिड़ला सभागार में शुरू होगा। इसमें हिन्दी के वैश्विक प्रचार-प्रसार के लिए दैनिक नवज्योति की ओर से स्थापित अखिल भारतीय कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी हिन्दी सेवा सम्मान-2018 प्रख्यात कवि मेरठ निवासी हरिओम पंवार को प्रदान किया जाएगा। इस मौके पर पंवार की कविताएं आग उगलेगी। वह वीर रस से भरी कविताएं सुनाएंगे। दिल्ली निवासी प्रख्यात कवि अरुण जैमिनी हास्य से भरपूर अपनी कविताओं से श्रोताओं को लोट-पोट करेंगे। दिल्ली निवासी वेद प्रकाश भी वीर रस की धारा बहाएंगे। उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी के आशीष अनल भी इस वीर रस की कविताओं के दौर को आगे बढाएंगे। आगरा की मशहूर कवियित्री ममता शर्मा अपनी कॉमेडी से जयपुरवासियों को गुदगुदाएंगी। हाड़ौती के प्रख्यात कवि कोटा निवासी प्रेम शास्त्री अपनी चिर-परिचित राजस्थानी भाषा में अपना काव्य पाठ करेंगे। दिल्ली के प्रख्यात कवि वीरेन्द्र मेहता भी श्रोताओं पर अपनी कविताओं की छाप छोड़ेंगे। इनके साथ ही जयपुर के जाने माने कवि संजय झाला अपनी बेजोड़ हास्य एवं व्यंग्य की कविताओं से पिंकसिटी के बाशिन्दों को हंसाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

अब तक इनको मिल चुका है सम्मान
दैनिक नवज्योति की ओर से 2012 में स्थापित अखिल भारतीय कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी हिन्दी सेवा सम्मान से कई नामचीन कवियों को नवाजा जा चुका है। पहला सम्मान केन्द्रीय हिंदी संस्थान के पूर्व उपाध्यक्ष एवं चर्चित हास्य कवि अशोक चक्रधर को दिया गया था। वर्ष 2013 में इस सम्मान से हरियाणा साहित्य अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष एवं हास्य कवि एवं पद्मश्री सुरेन्द्र शर्मा को नवाजा गया था। वर्ष 2014 में उत्तरप्रदेश हिंदी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रख्यात वयोवृद्ध गीतकार पदमभूषण गोपाल दास नीरज को सम्मानित किया गया था। वर्ष 2015 में इस सम्मान से हिंदी फिल्म विवाह और प्रेम रतन धन पायो के संवाद लेखक तथा हास्य रत्न से सम्मानित राजस्थान के मूल निवासी आसकरण अटल को नवाजा गया था। इस प्रकार वर्ष 2016 में ख्याति प्राप्त हास्य व्यंग्य लेखक नागपुर निवासी मधुप पांडे को यह पुरस्कार दिया गया था। पिछले साल 2017 में टीवी चैनल्स पर चर्चित व्यक्ति एवं वरिष्ठ कवि राजस्थान के मूल निवासी शैलेश लोढ़ा मुम्बई को इस पुरस्कार से नवाजा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *