रिएक्शन ऑन बाय इलेक्शन रिजल्ट

रिएक्शन ऑन बाय इलेक्शन रिजल्ट

हमें और मेहनत करने की जरूरत: राजे

उपचुनाव की तीनों सीटें हारने के बाद सीएम वसुंधरा राजे की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। राजे ने कहा कि जनता की सेवा को प्रण हमने 4 साल पहले लिया था, उसे पूरा करने में कोई कमी नहीं छोड़ी। आज जो फैसला तीनों क्षेत्रों में जनता ने दिया है वो सर आखों पर है। कार्यकर्ताओं ने जी तोड़ मेहनत की, लेकिन हमें और मेहनत करने की जरूरत। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा, हम जनता के फैसले का सम्मान करते हैं। हार के कारणों पर मंथन करेंगे।

कांग्रेस की नीतियों एवं कार्यक्रमों की जीत: गहलोत

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलवर और अजमेर में लोकसभा और माण्डलगढ़ में विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस की शानदार जीत को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी की नीतियों एवं कार्यक्रमों की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान कांग्रेस के सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने जिस एकजुटता के साथ प्रदर्शन किया, उससे निर्मित माहौल ने इन चुनावों में जीत का मार्ग प्रशस्त किया। इस जीत ने आज सिद्ध कर दिया है कि संकल्पबद्ध प्रदेश के लोगों ने भाजपा सरकार को पूरी तरह से नकार दिया है। अब उसकी विदाई तय है। गहलोत ने अपने बयान में तीनों उप चुनाव के मतदाताओं को बधाई के साथ उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि खोखले वादों के साथ भारी बहुमत से सत्ता में आई भाजपा सरकार पूरी तरह निकम्मी और नाकारा साबित हुई है। गहलो ने कहा कि यह पहली ऐसी सरकार है जिसके कार्य को लेकर पहले वर्ष से ही प्रदेशवासी अपने आपको ठगा सा महसूस करने लगे थे। आमजन की जुबान पर एक ही जुमला रहा कि इस सरकार को भारी बहुमत देकर ऐसा कौनसा गुनाह किया है जिसकी सजा ये सरकार दे रही है। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट का कहना है कि राजस्थान उपचुनाव के नतीजे राजस्थान सरकार के खिलाफ जनादेश है। मुझे आशा है हम और मतों से जीतेंगे। वसुंधरा जी की सरकार को जनता ने सिरे से नकार दिया है।

क्या कहते हैं विजेता

आम जनता बीजेपी से दुखी है। कांग्रेस तीनों सीटों पर जीतेगी। कांग्रेस का सुपड़ा साफ होगा।

– डॉ. रघु शर्मा, अजमेर के नवनिर्वाचित सांसद

ये हमारी नहीं जनता की जीत है, जनता के विश्वास की जीत है।

-डॉ. करण सिंह यादव, नवनिर्वाचित सांसद

नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने मुख्यमंत्री से मांगा इस्तीफा

राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा है कि प्रदेश के तीनों उपचुनावों के परिणाम मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के कुशासन के खिलाफ जनादेश हैं। इसलिये मुख्यमंत्री को तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा देना चाहिये। डूडी ने तीनों विजयी प्रत्याशियों को बधाई देते हुए प्रदेश की जनता का कांग्रेस पार्टी में पुन: विश्वास जताने के लिये आभार प्रकट किया है।
नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को प्रदेश में भ्रष्टाचार, अराजकता एवं कुशासन पनपाने के लिये जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि प्रदेश के किसान, युवा, मजदूर, कर्मचारी, महिला सभी वर्ग भाजपा कुराज से त्रस्त हैं। डूडी ने कहा कि प्रदेश की जनता ने भाजपा के खिलाफ जनादेश देकर यह जाहिर कर दिया है कि वह प्रदेश में भाजपा की सरकार को अब कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

चार साल के कुशासन का जनता ने दिया जवाब:पायलट

अजमेर, अलवर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देने की मांग की है। मतगणना के रूझान स्पष्ट होने के बाद दोपहर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में पायलट ने कहा कि इन उपचुनावों में कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत से यह साफ हो गया है कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है और राजस्थान के यह उपचुनाव के परिणाम प्रदेश और देश की राजनीति पर भी असर डालेंगे। चार साल के राज्य सरकार के कुशासन के अलावा इन उपचुनावों में नोटबंदी और जीएसटी का भी जनता ने विरोध किया है।

जनादेश का सम्मान करते हैं: परनामी

राज्य में तीनों उपचुनाव हारने के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी का कहना है कि वे जनादेश का सम्मान करते हैं। पार्टी चुनाव का विश्लेषण करेगी जो भी कमियां रही उसे दूर करेंगे। इसके बाद फिर राजस्थान की जनता का विश्वास हासिल करेंगे। उन्होंने कहा कि इस हार को लेकर राजस्थान भाजपा सामूहिक जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार है। परनामी उपचुनाव के परिणाम के बाद दोपहर बाद भाजपा कार्यालय में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में परनामी ने कहा कि कांग्रेस को इतनी प्रसन्न होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि भाजपा कोई छुईमुई का पेड़ नहीं है जो तीन उपचुनाव के रिजल्ट के बाद मुरझा जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा का कमल फिर से राजस्थान में खिलेगा। हमने विकास के लिए राजस्थान को आगे बढ़ाने का काम किया। कमियों का विश्लेषण करेंगे जो कमियां रही उसे दूर करेंगे। परनामी ने कहा कि पूरे राजस्थान की जनता का विश्वास हासिल करेंगे। जब भी चुनाव होते हैं पार्टी पूरी क्षमता से काम करती है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि छह महीने पहले धौलपुर का चुनाव 38 हजार वोटों से जीता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *