किसान और महिलाओं को समर्पित बजट किया मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने

मंजिलें बड़ी जिद्दी होती हैं
हासिल कहां नसीब से होती है
वहां तूफान भी हार जाते हैं
जहां कश्तियां जिद पर होती हैं

विधानसभा संवाददाता

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे वित्त वर्ष 2018-19 के लिए अपनी सरकार के वर्तमान कार्यकाल का अन्तिम लोकलुभावन बजट सोमवार को पेश कर दिया। बजट में आने वाले आमचुनाव की छाया साफ दिखाई दी। बजट में किसान, महिला वर्ग को सबसे अधिक तवज्जों को दी गई है।

बजट पेश करने के दौरान विपक्ष के कई जगह टोकाटाकी की। यहां तक की मुख्यमंत्री को बजट पढऩे में करीब पांच मिनिट की देरी हुई लेकिन विधानसभा अध्यक्ष की सख्ती के चलते विपक्ष कुछ अधिक नहीं कर पाया। दो घंटे 12 मिनट के अपने बजट भाषण में राजे ने आम आदमी को कोई भी नया टैक्स नहीं लगाकर राहत दी है। मुख्यमंत्री ने लघु व सीमांत किसानों को 50 हजार तक के कर्ज माफी की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने दो हजार पटवारियों की भर्ती सहित आठ माह में एक लाख नौकरियां देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने बजट की शुरुआत हमेशा की तरह एक शेर पढ़कर की। उन्होंने कहा कि ‘मंजिलें बड़ी जिद्दी होती हैं, हासिल कहां नसीब से होती है, वहां तूफान भी हार जाते हैं, जहां कश्तियां जिद पर होती हैंÓ।

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि हर तबके का विकास करना हमारा लक्ष्य है। मुख्यमंत्री सक्षम योजना से 5 लाख बालिकाओं का फायदा मिला है। सभी विधानसभा क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को रोडवेज में फ्री सफर। अटेंडेंट को 50 फीसदी रियायत होगी। नई रेल लाइन जोडऩे की योजना शुरू की जा रही है। यह पश्चिमी राजस्थान के विकास के लिए वरदान साबित होगी। जैसलमेर और बाड़मेर को मुंद्रा पोर्ट से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पेपरलैस किया जाएगा। 13 लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार, स्वरोजगार के अवसर इस बजट में मिलेंगे। देश में पहली स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना की जाएगी।

जयपुर के लिए ये
जयपुर से दिल्ली जाने वालों के लिए अंडरपास बनेगा। ये रामनिवास बाग से शुरू होकर जोरावर सिंह गेट तक बनेगा। दिल्ली जाने वालों को शहर में होने वाले जाम से निजात मिलेगी। पुराने जयपुर की रौनक लौटेगी। ऊंटनी दूध प्रसंकरण का जयपुर में एक प्लांट स्थापित होगा। अमानीशाह नाले का द्रव्यवती नदी के रूप का कायाकल्प होगा। द्रव्यवती कॉरिडोर बनेगा वाईफाई युक्त। जगतपुरा शूटिंग रेंज अन्तरराष्ट्रीय बनेगी। जगतपुरा शूटिंग रेंज के लिए इलेक्ट्रॉनिक टारगेट आएंगे। जयपुर के एसएमएस में 6 करोड़ की लागत से कैथ लैब की घोषणा। एसएमएस अस्पताल ट्रोमा सेंटर्स से अंडरपास के जरिए जुड़ेगा। जयपुर में 40 इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी। जयपुर स्थित शासन सचिवालय के भवन को बनाया जाएगा ग्रीन बिल्डिंग। दस करोड़ की लागत से जयपुर में बनेगा राज्यस्तरीय सड़क सुरक्षा प्रशिक्षण केन्द्र।

बजट भाषण के बीच में राजे ने फिर शेर पढ़ा
मैं किसी से बेहतर करूं क्या फर्क पड़ता है
मैं किसी का बेहतर करूं बहुत फर्क पड़ता है।

गांव और किसान के लिए किया ये
डार्क जोन वाले जिलों को नदी परियोजना से जोड़ा जाएगा, इसमें दौसा, करौली, सवाई माधोपुर जैसे जिले शामिल। सरकार ने लघु व सीमांत किसानों को राहत दी है। 50 हजार तक कर्ज माफी की घोषणा हालांकि लघु और सीमांत किसानों के लिए की गई इस घोषणा से राज्य सरकार पर 8 हजार करोड़ रुपए का भार पड़ेगा। कर्ज में सितंबर 2017 तक का ब्याज भी माफ कर दिया गया। हर जिले में एक गौशाला को 50 लाख का अनुदान। पांचना, टोडी सरगर नदियों को जोड़ा जाएगा। राजस्थान कृषक ऋण राहत आयोग का गठन किया गया है। किसान कर्ज राहत आयोग बनाया गया है, यहां किसान मेरिट के आधार पर कर्ज माफी के लिए संपर्क कर सकते है। सरसों और चने की सरकारी खरीद के लिए 500 करोड़ रुपए अलॉट किए गए। कोटड़ा, सलूम्बर और गोगुन्दा में वन उपज मंडी खोली जाएगी। कोटा, अलवर में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी खोली जाएगी। इलेक्ट्रिसिटी के लिए 2 लाख नए एग्रीकल्चर कनेक्शन दिए जाएंगे। कुल 7 लाख नए इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन दिए जाएंगे।

युवा-बेरोजगार
शिक्षा विभाग में 77,000, गृह विभाग में 5718, प्रशासनिक सुधार विभाग में 11,923 और स्वास्थ्य विभाग में 6976 पोस्ट समेत कुल 1,08,000 पोस्ट्स पर दिसंबर 2018 से पहले भर्तियां होंगी। अगले साल तक 75,000 पोस्ट के लिए नई विज्ञप्ति जारी की जाएगी। 1000 नर्सिंग कर्मियों को भर्ती किया जाएगा। राजकीय ढ्ढञ्जढ्ढ को डिजिटल इंडिया योजना से जोड़ा जाएगा। झुंझुनूं राज्य क्रीड़ा संस्थान के लिए 31 करोड़ रुपए अलॉट किए गए। देश की पहली स्किल यूनिवर्सिटी बनाई जाएगी।

महिला और बाल विकास
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को अब 6 हजार, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 4500, सहायिका को 3500, साथिन को 3300 और आशा सहयोगिनियों को 2500 रुपए मानदेय मिलेगा। 184000 महिला कार्यकर्ताओं को इससे लाभान्वित किया जाएगा। महिलाओ के लिए मेंस्ट्रुअल हाइजीन योजना का शुभारंभ। अन्नपूर्णा भंडार के जरिए सेनेट्री पेड्स होंगे वितरित। सेनेट्री पैड्स के लिए 76 करोड़ की योजना। मां बाड़ी केंद्रों में नए गैस कनेक्शन। 85 फीसदी से ज्यादा अंक वाली छात्राओं को स्कूटी दी जाएगी। चाइल्ड केयर लीव की घोषणा। महिला कर्मचारियों को अठारह साल से कम उम्र के छोटे बच्चों की देखभाल के लिए पूरे सेवाकाल में 2 साल की छुट्टी।

पत्रकारों के लिए
फोटो जर्नलिस्ट एसं न्यूज कैमरामैन के निजी उपकरणों के लिए बीमा योजना लागू की जाएगी। ऐसे पत्रकार जिनके पास पूर्व में अपने अथवा परिवार के नाम पर सरकारी योजना में भूखंड अथवा आवास आवंटित नहीं है उन्हें मकान बनाने के लिए अधिकतम 25 लाख तक के ऋण पर ब्याज अनुदान देय होगा। असाध्य रोग से ग्रसित होने पर पत्रकारों व साहित्यकारों के आश्रितों को भी पत्रका व साहित्यकार कल्याण कोषण से एक लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

अन्य घोषणाएं
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के हाईवे को इस स्तर का बनाया जाएगा ताकि इमरजैंसी में उन पर विमानों की लैंडिंग हो सके। 100 नर्सिंग टीचर्स की भर्ती की घोषणा। जिला चिकित्सालयों में रूफटॉप सोलर प्लांट्स स्थापित होंगे। प्रदेश में 28 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की सौगात। बीकानेर में भी 6 करोड़ की लागत से नवीन कीथ लैअ की घोषणा। अजमेर में भी 6 करोड़ की लागत से नवीन कीथ लैब की घोषणा। राजकीय आयुर्वेद में नए पाठ्यक्रम की घोषणा। कोटा में नया कृषि कॉलेज खोलने की घोषणा। प्रदेश में आठ नई आईआईटी खुलेंगे। झंझुनूं में राज्य क्रीड़ा संस्थान के माध्यम से युवाओं को मिलेगा लाभ। खेल भवन की घोषणा। इस बजट में तीन करोड़ का प्रावधान। भैरोंसिंह आंत्योदय योजना की घोषणा। एससी-एसटी ईबीसी के लिए। रतनगढ़, चूरू में इंडोर स्टेडियम बनेगा। सुंदर सिंह भंडारी ईबीसी योजना। झंझुनंू राज्य क्रीड़ा संस्थान के लिए 31 करोड़ रुपए। जिन किसानों के यहां बिजली नहीं उन्हें सोलर लैंप मिलेंगे। स्वीमिंग पूल के लिए डेढ़ करोड़ और देने की घोषणा। भामाशाह कार्ड धारकों को एक लाख तक का बीमा होगा। जनजातीय क्षेत्रों में पांच खेल छात्रावास बनेंगे। 80 हजार पुलिसकर्मियों का मैस भत्ता बढ़ा। रोजगार सृजन के लिए 192 करोड़ की मार्जिन सब्सिडी मनी। अन्नपूर्णा रसोई योजना के लिए 340 करोड़ का प्रावधान। जिलों में पीपीपी मोड पर कृषि महाविद्यालय खुलेंगे। गौशालाओं का चारा अनुदान तीन से बढ़ाकर छह माह होगा। हर जिला कलेक्ट्री कार्यालय में होगी अन्नपूर्णा वैन। कोटा शहर के एयरोड्राम सर्किल पर जाम की समस्या से मिलेगी निजात। शहीद सैनिकों के परिजनों को 25 लाख की मदद। 7 सिविल न्यायाधीश सिविल कोर्ट स्थापति होंगे। 19 स्मारकों के लिए अब 33 करोड़ का व्यय। पुलिस के नकारा वाहन हटाए जाएंगे। पुलिस बनेगी हाईटैक, 91 करोड़ व्यय होंगे। कुल 35 नए न्यायालय खोले जाएंगे। बांदीकुई, सांभ्ररलेक के कोर्ट अपग्रेड। व्यापारिक कल्याण बोर्ड की घोषणा।

गरीबों को आवास
गरीबों के आवास की रजिस्ट्री पर छूट। ईडब्ल्यूएस के मकान पर दो के बजाए एक प्रतिशत ही लगेगी ड्यूटी। एलआईजी के मकान पर 3.5 प्रतिशत के बजाए अब दो प्रतिशत ही लगेगी ड्यूटी। 30 वर्ष की लीज पर पंजीयन शुल्क में 20 फीसदी छूट।

व्यापारी
कोटा स्टोन पर जीएसटी कम करने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत। बजरी खनन के लिए छोटे साइज के पट्टे। वेस्ट मार्बल खंडों पर रॉयल्टी माफ। प्रस्तावों में नहीं लगाया गया कोई भी नया कर।

मुख्यमंत्री ने यूं किया अपने बजट भाषण का अन्त
दो घंटे 11 मिनट के बजट भाषण का अंत भी वसुंधरा राजे ने शेर पढ़कर की। इसके बाद सदन की कार्यवाही 14 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दी गई।
मंजिल यूं ही नहीं मिलती दोस्तों,
इक जुनून जगाना पड़ता है।
पूछा चिडिय़ा से घोंसला कैसे बनता है
बोली- तिनका तिनका उठाना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *