विधायक और पूर्व उपराष्ट्रपति के दामाद राजवी को भी स्वाइन फ्लू

विधायक और पूर्व उपराष्ट्रपति के दामाद राजवी को भी स्वाइन फ्लू

जयपुर। पिछले डेढ़ महीने में स्वाइन फ्लू से राजस्थान में 76 लोगों की मौत हो चुकी है। अब भाजपा विधायक नरपत सिंह राजवी भी इसकी गिरफ्त में आ गए हैं।

प्रदेश में स्वाइन फ्लू के कहर से नेता और विधायक भी नहीं बच पा रहे हैं। छह महीने पहले बीजेपी की मांडलगढ़ विधायक कीर्ति कुमारी की स्वाइन फ्लू से मौत हुई थी और एक भाजपा विधायक नरपत सिंह राजवी इसकी चपेट में आ गए हैं। वहीं मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार महेन्द्र भारद्वाज को भी स्वाइन फ्लू की शिकायत बताई गई है।

प्रदेश में स्वाइन फ्लू के केस बढ़ते जा रहे हैं और बुधवार को इससे 4 लोगों की मौत हो चुकी है और 17 नए मरीज सामने आए हैं। इन नए मरीजों में विधायक राजवी के साथ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के मीडिया सलाहकार महेन्द्र भारद्वाज भी शामिल हैं।विधायक नरपत सिंह राजवी की रिपोर्ट स्वाइन फ्लू पॉजिटिव आने के बाद से उनका घर पर ही इलाज किया जा रहा है। राजवी को सर्दी-जुकाम और बुखार की शिकायत के बाद मंगलवार को स्वाइन फ्लू की जांच कराई गई थी। उधर, पूर्व गृह मंत्री शांति धारीवाल ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर डेंगू और स्वाइन फ्लू की रोकथाम करने के लिए त्वरित प्रयास करने की मांग की है। धारीवाल ने गुरुवार को चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ को भी चिट्ठी भेजी है।

विधानसभा में छींक

राजस्थान विधानसभा में भी गुरुवार को स्वाइन फ्लू का खौफ नजर आया। शोकाभिव्यक्ति के तुरंत बाद घनश्याम मेहर को छींक आने पर स्पीकर ने मेहर को जांच करवाने को कहा। विधायक नरपत सिंह राजवी को स्वाइन फ्लू की पुष्टि के बाद सदन में विधायकों के माथे पर स्वाइन फ्लू पर चिंता साफ झलक रही थी।एक जनवरी से 12 फरवरी तक प्रदेश में 886 लोगों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी हैं जिनमें से 76 दम तोड़ चुके हैं।

राजधानी में सैंपल में से दस फीसदी पॉजिटिव

जयपुर में स्वाइन फ्लू के साढ़े पांच हजार सैंपल लिए गये थे जिनमें से दस प्रतिशत सैंपल पॉजिटिव पाये गये हैं। दूसरी तरफ सरकार का कहना है कि स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए जो इंतजाम किए गये हैं वो काफी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *