सदन में गूंजा नेता प्रतिपक्ष का सट्टा!-भारी हंगामें में दो बार स्थगित होने के बाद विधानसभा पूरे दिन के लिए स्थगित

सदन में गूंजा नेता प्रतिपक्ष का सट्टा!-भारी हंगामें में दो बार स्थगित होने के बाद विधानसभा पूरे दिन के लिए स्थगित

विधानसभा संवाददाता

जयपुर। शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी के सट्टे के वीडियो वायरल होने वाले प्रकरण की बलि चढ़ गई। प्रश्न के बाद शून्यकाल में सत्ता पक्ष ने जमकर कांग्रेस पर हमला किया। कांग्रेस भी बचाव में दिखी। सदन आर्डर में नहीं रहा तो दो बार स्थगित करने के बाद विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी।

गौरतलब है कि एक वीडियो वॉयरल हुआ है जिसमें प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी बोल रहे हैं कि उपचुनाव सट्टे में 3 करोड़ लगे थे। इस पर विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। हंगामे की शुरुआत उस वक्त हुई जब संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने प्रश्नकाल समाप्त होते ही कहा कि राजस्थान के नेता प्रतिपक्ष के एक सट्टे का वीडियो वायरल हो रहा है। साथ ही संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कि कालेधन का सबसे बड़ा स्त्रोत सट्टा ही है। ऐसे में नेता प्रतिपक्ष पर इस आरोप के लगने के बाद नाम खराब हो रहा है। इसके साथ ही उन्होंने रामश्वर डूडी पर हमला करते हुए कहा कि जिस तरह से नेता प्रतिपक्ष ने कुछ दिनों पहले ही अपने इलाके में एक भोजन का कार्यक्रम रखा था। उसमें भी दलितों को अलग पंगत में बैठाया गया था।

इसके बाद में सदन में उपमुख्यसचेतक ने सदन में खड़े होकर खुलासा किया कि डूडी के ही एक रिश्तेदार ने उन्हें ये वीडियो दिया है और अगर स्पीकर इजाजत दे तो मै उसे यहां सुना दूं। इस बात को लेकर सदन में हंगामा हो गया और स्पीकर ने हंगामें के बीच ही सदन को आधे घण्टे तक स्थगित कर दिया। इस मामले में सदन के बाहर जब पत्रकारों ने डूडी से सवाल किया गया तो उन्होंने साफ कर दिया कि इस वीडियो के बारे में उन्हें कोई जानकारी नही हैं। वो गांव ढाणी से उठे हुए नेता है ओर उन्हें बदनाम करने के लिए इस तरह की झूठी बात कही जा रही है। इस तरह का आरोप उस गांव ढाणी के आदमी का अपमान है जो मेहनत करके पैसा कमाता है। जब उनको सट्टे के बारे में ही जानकारी नहीं है तो फिर वीडियो की सत्यता और असत्यता का सवाल ही नहीं उठता है। भाजपा के लोग पैसे वाले होते है। उनको इस बारे मे जानकारी हो सकती है। हम सट्टे के बारे में नहीं जानते हैं। 3 उपचुनावों में हारने के बाद भाजपा गंदी राजनीती पर उतर आई है। इस तरह से सीडी भाजपा के नेताओं की ही आती है हम इस तरह के कामों में लिप्त नहीं होते।

दोबारा सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित हुई और इसके बाद भी सदन में हंगामा होता रहा। नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा कि आसन सदन को आर्डर में लाएं तो वे जवाब देने को तैयार है। इस पर फिर हंगामा हो गया। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि इसकी एसएफएल जांच करा लेते हैं दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। दोनों तरफ से हंगामा होते देख विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *