कांग्रेस का पूरे दिन सदन में हंगामा: डूडी का राठौड़ पर निशाना

कांग्रेस का पूरे दिन सदन में हंगामा: डूडी का राठौड़ पर निशाना

जयपुर। विधानसभा में सोमवार को भी प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी के तीन करोड़ रुपए के सट्टे वाले वीडियो को लेकर पूरे दिन हंगामा बरपा। शुक्रवार को जहां इस मामले को लेकर भाजपा विधायक हमलावर थे, वहीं सोमवार को कांग्रेस हमलावर रही। सदन की कार्रवाई को पहले शून्यकाल में आधे घण्टे और बाद में चार बजे तक स्थगित करनी पड़ी।

प्रश्नकाल जैसे ही शुरू हुआ। कांग्रेस के मुख्य सचेतक गोविन्द डोटासरा ने कहा कि प्रतिपक्ष के नेता पर सीधे आरोप लगे हैं। वे जवाब देना चाहते हैं लेकिन सरकार सुनना नहीं चाहती। इस पर विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने कहा कि वे प्रश्नकाल के बाद नेता प्रतिपक्ष को अपनी सफाई देने का मौका देंगे। इस तरह प्रश्नकाल का रास्ता तो साफ हुआ लेकिन जैसे ही शून्यकाल शुरू हुआ तो हंगामा फिर हो गया। आसन की तरफ से बोलने की अनुमति मिलने के बाद नेता प्रतिपक्ष अपनी सफाई में नहीं बोलकर बजट और भाजपा नेताओं के ऑडियो वीडियो पर बोलने लगे तो विधानसभा अध्यक्ष ने इजाजत नहीं दी और उनकी किसी भी बात को अंकित नहीं करने के निर्देश दिए। इस पर कांग्रेस के सदस्य वैल में आ गए और नारेबाजी करने लगे। शून्यकाल चलता रहा। इसके बाद विधानसभा की कार्रवाई आधे घण्टे के लिए स्थगित कर दी गई। इसके बाद आसन पर उपाध्यक्ष राव राजेन्द्र सिंह आए। नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने फिर बोलना शुरू किया। उपाध्यक्ष ने कहा कि वे अध्यक्ष द्वारा दी गई व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं कर सकते। कांग्रेसी सदस्य हंगामा मचाने लगे। आवेश में आए प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने कहा कि संसदीय कार्य मंत्री दारिया के हत्यारे हैं। सुप्रीम कोर्ट में अभी उन्हें मुक्ति नहीं मिली है और पूरी जनता जानती है कि दारिया का हत्यारा कौन है? इन आरोपों के बीच नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी तो तैश में आकर संसदीय कार्य मंत्री को यहां तक कह गए कि वो एक एनकाउन्टर काण्ड में आरोपी रहे हैं और जेल जाकर आए हैं।

डूडी के इस बयान पर भी सदन में हंगामा हुआ और बजट पर बहस हंगामे की भेंट चढ़ गई। उपाध्यक्ष ने कार्रवाई शाम को चार बजे तक के लिए स्थगित कर दी। चार बजे आसन पर आए अध्यक्ष मेघवाल ने बजट पर बोलने के लिए नेता प्रतिपक्ष का नाम पुकारा। डूडी बोलने के लिए खड़े हुए लेकिन बजट पर नहीं बोलकर पुरानी बात पर ही बोले। इस पर आसन ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष बजट पर नहीं बोलने देना चाहते इसलिए उन्होंने सदन की नेता मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को बजट पर रिप्लाई के लिए आंमत्रित कर दिया। इस दौरान कांग्रेसी सदस्य हंगामा मचाते रहे।

बाद में विधानसभा के भीतर की यह ज़ुबानी जंग सदन के बाहर मीडिया के कैमरों के सामने भी दिखी। बाद में सदन के बाहर भी राजेन्द्र राठौड़ पर आरोप लगाते हुए डूडी ने कहा कि अगर सही जांच हो तो दारिया एनकाउन्टर में कौन हत्यारा था उस बात का भी खुलासा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वक्त आने पर वे आनन्दपाल एनकाउन्टर मामले में भी कई नामों का खुलासा करेंगे। नेता प्रतिपक्ष ने इस दौरान मुख्यमन्त्री पर भी आरोप लगाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *