किसान नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में सीकर बंद रहा

किसान नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में सीकर बंद रहा

-बंद करवा रहे 2 दर्जन बंद समर्थकों को पुलिस ने लिया हिरासत में

सीकर। भारतीय किसान सभा व किसान नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में किसान महासभा के बंद का बुधवार को मिलाजुला असर देखने को मिला। बुधवार को सुबह से दोपहर तक प्रतिष्ठान बंद रहे और दोपहर के बाद कई प्रतिष्ठान खुल गए। बंद समर्थकों ने व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद की अपील करके बंद करवा रहे थे। शहर को बन्द करवा रहे करीब दो दर्जन युवाओं को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है।

सुबह सीकर के भीतरी इलाकों में बंद का पूरा असर रहा व बाहरी इलाकों में बंद का असर कम दिखाई दिया। दोपहर होते होते प्रतिष्ठान खुलना शुरू हो गए। सीकर बंद के दौरान आवश्यक सेवाओं को अलग रखा गया था। गौरतलब है की स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू कराने सहित किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर पूर्व विधायक अमराराम और पेमाराम के नेतृत्व में 22 फरवरी को विधानसभा का घेराव का एलान कर किसानों के साथ जयपुर कूच कर रहे थे। जिन्हें मंगलवार को जयपुर में प्रवेश करने से पहले ही पुलिस ने गिरफतार कर लिया था। किसान नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में किसान महासभा ने सीकर बंद का आह्वान किया था जिसका व्यापार महासंघ ने समर्थन किया था।

अमराराम को 28 फरवरी तक जेल भेजा

अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमराराम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अमराराम सहित अन्य 24 किसानों को एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया। जहां एसडीएम ने सभी को जेल भेजने के आदेश दिए हैं। कालाडेरा पुलिस थाने से सभी किसानों को रोडवेज में बैठाकर चौमूं लाया गया। अमराराम सहित कई किसानों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां पर सुनवाई के बाद एसडीएम ने सभी को 28 फरवरी तक जेल भेजने के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *