नाथद्वारा विधायक कल्याण सिंह का निधन

नाथद्वारा विधायक कल्याण सिंह का निधन

-एक वोट से हराया था कांग्रेस के सीपी जोशी को

जयपुर। नाथद्वारा से बीजेपी विधायक कल्याण सिंह का निधन हो गया। कल्याण सिंह ने नाथद्वारा से एक वोट से कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री पद के दावेदार और प्रदेश अध्यक्ष डॉ.सी.पी. जोशी को चुनाव हराकर पूरे देश में प्रसिद्धि पाई थी। उनके निधन के बाद प्रदेश के कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया।

विधायक कल्याण सिंह का कई दिनों से अस्पताल में इलाज चल रहा था। वे लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे। जिसके चलते वे उदयपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। उनका निधन रात करीब 2.30 बजे हुआ। जिसके बाद उन्हें उनके पैतृक गांव ले जाया गया है।

कल्याण सिंह का जन्म 1959 में राजसमंद जिले में हुआ था। वह अपने गांव के सरपंच रहे पंचायत समिति के प्रधान रहे और राजसमंद के जिला परिषद के उप प्रमुख रहे। कल्याण सिंह तब चर्चा मे आए थे जब उन्होंने 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष डा. सीपी जोशी को 1 वोट से हराकर सनसनी फैला दी थी। कल्याण सिंह वर्ष 2013 में नाथद्वारा से दूसरी बार विधायक चुने गए थे।

विधानसभा फिर हो गई अधूरी

राजस्थान विधानसभा के लिए यह मिथक एक बार फिर सही साबित हुआ कि इसमें पूरे पांच साल दो सौ विधायक नहीं रहते। पिछले दिनों विधायक कीर्ति कुमारी का निधन स्वाइन फ्लू से हो गया था और उपचुनाव में ये सीट कांग्रेस के विवेक धाकड़ ने जीती थी। इसके बाद ये कहा जा रहा था कि अब विधानसभा में 200 विधायक पूरे हो गए, लेकिन कल्याण सिंह के निधन के बाद ये संख्या एक बार फिर 199 रह गई।

सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी

कल्याण सिंह के निधन पर सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर लिखा कि नाथद्वारा के ऊर्जावान और लोकप्रिय विधायक श्री कल्याण सिंह चौहान जी के असामयिक निधन पर शोक संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। श्री चौहान जी भाजपा संगठन का एक अभिन्न अंग थे और उनका निधन मेरे और समस्त भाजपा परिवार के लिए एक अपूरणीय क्षति है। मेरी ईश्वर से प्रार्थना है कि वह श्री कल्याण सिंह चौहान जी की आत्मा को शांति एवं शोक संतप्त परिवार को इस दुखद घड़ी में धैर्य एवं साहस प्रदान करे।

सदन शोकाभिव्यक्ति के बाद स्थगित

विधानसभा में विधायक कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि देने के बाद कार्रवाई गुरुवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई, क्योंकि कल्याण मौजूदा विधान सभा के सदस्य थे। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने सुबह 11 बजे सदन की कार्रवाई शुरू की। सदन में दिवंगत विधायक कल्याण सिंह के निधन पर शोक प्रस्ताव रखा। जिसके बाद विधानसभा को गुरुवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

राज्यपाल की संवेदनाएं

राज्यपाल कल्याण सिंह ने नाथद्वारा से विधायक कल्याण सिंह चौहान के निधन पर संवेदना व्यक्त की है। राज्यपाल ने दिवगंत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को इस दु:ख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ ने विधायक कल्याण सिंह के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। सराफ ने शोक संदेश में कहा कि स्वर्गीय विधायक कल्याण सिंह एक निष्ठावान कार्यकर्ता होने के साथ ही सदैव आमजन की सेवा में तत्पर रहे। उन्होंने विधायक के रूप में आमजन की समस्याओं के समाधान के प्रति सदैव गंभीरता से प्रयास किए।

कई समितियों के सदस्य रहे

विधायक कल्याण सिंह चौहान तेरहवीं तथा चौदहवीं विधान सभा में नाथद्वारा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के विधायक रहे। विधानसभा के कार्यकाल के दौरान सरकारी आश्वासनों सम्बन्धी समिति, जन लेखा समिति तथा प्राक्कलन समिति ÓखÓ के सदस्य रहे।
चौहान वर्ष 1988 से 1991 तक ग्राम पंचायत कोठरिया के सरपंच, वर्ष 1995 से 2000 तक पंचायत समिति खमनौर के प्रधान तथा वर्ष 2000 से 2005 तक जिला परिषद् राजसमन्द के उप जिला प्रमुख रहे। वर्ष 2005 में आप पुन: जिला परिषद् राजसमन्द के सदस्य निर्वाचित हुए। पंचायत समिति के प्रधान के रूप में उन्हें केरल के राज्यपाल द्वारा सम्मानित भी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *