तो क्या विधानसभा पर है भूतों का साया

तो क्या विधानसभा पर है भूतों का साया

-21वीं सदी में हमारे विधायकों का है दावा

-मुख्यमंत्री को हवन व अनुष्ठान कराने के लिए भी कहा

जयपुर। विधानसभा श्मशान की भूमि पर बसी हुई है और इसलिए इस पर भूतों का साया बना हुआ है। ये हम नहीं कह रहे, ये 21वीं सदी के हमारे विधायकों का बयान है।

जी हां विज्ञान के इस युग में भूत-प्रेतों की बात हमारे जनप्रतिनिधियों ने कही है। विधानसभा में अक्सर 200 की संख्या पूरी नहीं होती। इस बार भी दो विधायकों की मृत्यु हो गई। कीर्तिकुमारी स्वाइन फ्लू और कल्याणसिंह कैंसर की भेंट चढ़ गए। इस पर ये सवाल खड़े कर दिए गए हंै कि क्या राजस्थान विधानसभा में भूतों का साया बना हुआ है? क्या विधानसभा में प्रेत आत्माऐं भटक रही है? भूत और प्रेत-आत्माएं हो या ना हो, लेकिन भाजपा विधायकों को यह विधानसभा अब अपशगुनी लगने लगी है।

मौजूदा बीजेपी सरकार के 4 साल के कार्यकाल के दौरान दो विधायकों की मौत के बाद अब सभी विधायकों और मंत्रियों तक को राजस्थान विधानसभा में भूतों और प्रेत आत्माओं का डर सताने लगा है। भाजपा विधायक हबीबुर्रहमान और सरकारी मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर का दावा है कि प्रेत आत्माएं होती हैं और विधानसभा भवन में भी इसका साया बना है। इन प्रेत आत्माओं की मनहुसियत यहां बनी हुई है।

विधायक कालूलाल का कहना है कि विधानसभा का निर्माण श्मशान की जमीन पर किया गया है, ऐसे में यहां भूतों को साया मंडरा रहा है। कुछ आत्माएं भटकती रहती हैं। दूसरे जन्म में भी उन्हें नया शरीर नहीं मिल पाता है।
मुख्य सचेतक ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि अन्य विधायकों के साथ विधानसभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से धार्मिक अनुष्ठान और हवन कराने का निवेदन किया है ताकि इसका शुद्धिकरण किया जा सके। हालांकि शुद्धिकरण की प्रक्रिया कब होगी फिलहाल यह तय किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *