एक अभिनेता को एक अच्छा व्यक्तित्व भी होना चाहिए: परीक्षित साहनी

एक अभिनेता को एक अच्छा व्यक्तित्व भी होना चाहिए: परीक्षित साहनी

-चाय से चर्चा पर प्रेस क्लब में रूबरू हुए प्रेस के साथियों से

जयपुर। फिल्म अभिनेता परीक्षित साहनी का जयपुर से बड़ा जुड़ाव है। उन्हें राजस्थान में आना बहुत अच्छा लगता है और वे अक्सर यहां आने का मौका तलाशते हैं।

परीक्षित साहनी सोमवार को पिंकसिटी प्रेस क्लब में चाय पर चर्चा के लिए पहुंचे तो उन्होंने खुलकर प्रेस के साथियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि मेरे डैडी बलराज साहनी के घुटनों के बराबर भी वे नहीं है। डैडी कहते थे कि कैमरा आपके व्यक्तित्व को अन्दर तक तलाशकर बाहर लाता है। इसलिए एक अभिनेता को एक अच्छा व्यक्ति भी होना जरूरी है। यदि कोई गन्दगी अभिनेता के मन, दिल और दिमाग में है तो वह कैमरा जरूर बाहर ले आता है। उन्होंने कहा कि जयपुर में 70 के दशक में वे शेर शिवाजी फिल्म की शूटिंग के दौरान घोड़े से गिरकर घायल हो गए तो लगा कि जिन्दगी थम सी गई है। उनकी रीढ़ हड्डी में पांच जगह चोटें आई थी। वे तीन साल तक बिस्तर पर रहे। उन्होंने याद किया कि सतोंकबा दुर्लभ जी अस्पताल में उनका इलाज हुआ और इसके बाद मुम्बई में हुआ। लेकिन संतोकबा के शुरुआती इलाज और केयर की वजह से वे आज यहां बैठकर बात कर रहे हैं।

इस दौरान उन्होंने कई पुरानी बातें याद की, जिसमें उन्होंने सामोद महल में हुई एक हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग के किस्से भी सुनाएं। उन्होंने प्रेस क्लब की भूरि-भूरि प्रशंसा की। इस अवसर पर उनसे प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष आईएम तलवार, वरिष्ठ पत्रकार संतोष निर्मल, पूर्व महासचिव रोशनलाल शर्मा सहित अनेक पत्रकारों ने सवालात किए जिनके उन्होंने बड़े ही जॉली मूड में जवाब दिए। कार्यक्रम का संचालन क्लब के उपाध्यक्ष अभय जोशी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *