बेटियां बोझ नहीं हमारी आन-बान-शान : मोदी

बेटियां बोझ नहीं हमारी आन-बान-शान : मोदी

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का विस्तार एवं राष्ट्रीय पोषण मिशन का शुभारम्भ

झुंझुनूं/जयपुर। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर देश को दो नई सौगातें दीं। राजस्थान के झुंझुनूं की धरती से गुरुवार को Óबेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओÓ अभियान के पूरे देश में विस्तार तथा राष्ट्रीय पोषण मिशन का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बेटियां बोझ नहीं हमारी आन-बान-शान होती हैं। उन्होंने कहा कि देश को कुपोषण से मुक्त करने और कन्या भू्रण हत्या जैसी विकृति के उन्मूलन के लिए देश के हर परिवार को साथ आना होगा।

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को दी जन्मदिन की बधाई

प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में अपने सम्बोधन की शुरूआत मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे को जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं देकर की। विशाल जन समुदाय को संबोधित करते हुए मोदी ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत झुंझुनूं के शानदार काम की सराहना करते हुए कहा कि यहां की उपलब्धि ने मुझे आज इस धरा पर आने को मजबूर कर दिया। मैं आज इस पावन धरा की माटी को अपने मस्तक पर चढाने आया हूं।

झुुंझुनूं झुकना नहीं, जूझना जानता है

प्रधानमंत्री ने कहा कि समाज सेवा हो या शिक्षा, दान-पुण्य हो या देश के लिए मर-मिटने की बात, युद्ध हो या अकाल, झुंझुनूं झुकना नहीं जूझना जानता है। झुंझुनूं से जो यह पुनीत काम शुरू हो रहा है उसे हमें जन आंदोलन बनाना है।
Óबेटा-बेटी एक समानÓ की भावना से चलें मोदी ने कहा कि हमारे देश में कई पीढिय़ों से विकृत मानसिकता और समाजिक बुराइयों के कारण बेटियों को जन्म नहीं लेने देने का जो सिलसिला शुरू हुआ उससे समाज में असंतुलन पैदा हुआ। उन्होंने कहा कि बेटियों को बेटों के समान जन्म लेने और शिक्षा के अवसर देने की भावना से चलेंगे तो कई पीढिय़ों में आए इस अंतर को हम आने वाली एक-दो पीढिय़ों में ही मिटा सकते हैं।

देश को करेंगे कुपोषण मुक्त

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने महिला एवं बाल विकास, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, पेयजल एवं स्वच्छता जैसे विभागों को एक ही प्लेटफार्म पर लाकर देश को कुपोषण मुक्त बनाने की एक महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत की है। हमारा लक्ष्य है कि वर्ष 2022 तक देश में कुपोषण दर 38 से घटाकर 25 प्रतिशत तक लाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके लिए राष्ट्रीय पोषण मिशन पर 9 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

200 बेटियों और माताओं से किया संवाद

प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के शुरू होने के बाद पैदा हुई 200 बेटियों एवं उनकी माताओं से संवाद किया। उन्होंने नन्ही-नन्ही बच्चियों को दुलारा और उनकी बाल सुलभ शरारतों को देखकर खुश हुए। मोदी ने माताओं से संवाद करते हुए कहा कि आप इन बेटियों को पढ़ाने और आगे बढ़ाने के पूरे अवसर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *