बकाया भर्तियों की प्रक्रिया इसी माह पूरी होगी-डॉ. जाटावत

बकाया भर्तियों की प्रक्रिया इसी माह पूरी होगी-डॉ. जाटावत

-राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय

जयपुर। राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. बी. एल. जाटावत ने बोर्ड में विचाराधीन भर्तियों एवं विज्ञप्तियों की कार्यवाही इसी माह में पूर्ण करने के निर्देश दिये हैं।

डॉ. जाटावत ने बुधवार को राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड की आयोजित बैठक में बोर्ड सदस्यों एवं अधिकारियों को निर्देश दिये। बैठक में पुस्तकालयाध्यक्ष ग्रेड-थर्ड, सीधी भर्ती परीक्षा-2016 में दस्तावेज सत्यापन में पात्र पाये गये गैर-अनुसूचित क्षेत्र के 25 एवं अनुसूचित क्षेत्र के 16 अभ्यर्थियों का अन्तिम चयन कर विभाग को नियुक्ति हेतु अभिशंषा करने का निर्णय लिया गया साथ ही प्रयोगशाला सहायक संयुक्त सीधी भर्ती परीक्षा-2016 में अपात्र एवं अनुपस्थित रहे अभ्यर्थियों के स्थान पर वरीयताक्रम से श्रेणीवार गैर अनुसूचित क्षेत्र के 222 एवं अनुसूचित क्षेत्र के 58 अभ्यर्थियों का अस्थायी चयन करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में पशुधन सहायक सीधी भर्ती परीक्षा-2016 में अपात्र एवं अनुपस्थित रहे अभ्यर्थियों के स्थान पर वरीयता क्रम से श्रेणीवार गैर अनुसूचित क्षेत्र के 08 एवं अनुसूचित क्षेत्र के 02 अभ्यर्थियों का अस्थायी चयन करने का निर्णय लिया गया। साथ ही गैर अनुसूचित क्षेत्र में 02 अभ्यर्थियों का अन्तिम चयन कर विभाग को नियुक्ति हेतु अभिशंषा करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि कनिष्ठ अभियन्ता (सिविल), (डिग्री/डिप्लोमा) सीधी भर्ती परीक्षा-2016 में अपात्र एवं अनुपस्थित रहे अभ्यर्थियों के स्थान पर वरीयता क्रम से श्रेणीवार 05 अभ्यर्थियों का अन्तिम चयन कर विभाग को नियुक्ति दी जाये। पैरामेडिकल संवर्ग भर्ती में सहायक रेडियाग्राफर एवं लैब टेक्नीशियन में अभ्यर्थियों का अन्तिम चयन कर विभाग को नियुक्ति हेतु अभिशंषा करने का निर्णय लिया गया। संकलनकर्ता भर्ती में अस्थायी अभ्यर्थी का चयन करने का निर्णय लिया गया। बैठक में बोर्ड के सदस्य डॉ. नन्द सिंह नरूका, विनोद यादव, अलका सिंह सिराधना व डॉ. विजय लक्ष्मी महेन्द्रा सहित सचिव मातादीन शर्मा व अन्य अधिकारी एवं सलाहकार उपस्थित थेे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *