थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिगज्

थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिगज्

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेशभर के कार्मिकों को जनता की सेवा के लिए च्थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिगज् का मूलमंत्र दिया। उन्होंने कहा कि हम किसी भी पद पर पहुंच जाएं, लेकिन कभी अहंकार नहीं करना चाहिए क्योंकि सफलता का पहला सूत्र सबका सम्मान है। राज्य सरकार ने भी इसी सोच के साथ कार्य करते हुए हर वर्ग के समग्र विकास का प्रयास किया है।

राजे गुरुवार को सचिवालय परिसर में आयोजित राज्य सचिवालय कर्मचारी संघ के शपथ ग्रहण समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों को जनता की सेवा का विशेष अवसर मिला है। इसलिए वे पूरी निष्ठा और सद्भाव के साथ काम करते हुए आमजन की तकलीफों को दूर करने की हर सम्भव कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सचिवालय में प्रदेश के किसी भी कोने से कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आए तो वह यहां से चेहरे पर मुस्कान लेकर जाए।
शासन सचिव कार्मिक भास्कर ए. सावंत ने भी सम्बोधन दिया। उन्होंने मुख्य सचिव का संदेश देते हुए कहा कि हमें प्रदेश के सर्वोच्च कार्यालय में काम करने का अवसर मिला है तो हमें सर्वोच्च कोटि की कार्यक्षमता का प्रदर्शन करना चाहिए।

सचिवालय कर्मचारी संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष श्री अभिमन्यु शर्मा ने स्वागत सम्बोधन दिया तथा कार्यकारिणी की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने नई कार्यकारिणी को शपथ ग्रहण करवाई। इससे पहले मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर सचिवालय सेवा के विभिन्न संवर्गों के अध्यक्ष और पूर्व अध्यक्ष तथा सचिवालय के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

2.5 लाख करोड़ के कर्ज के बावजूद सातवां वेतनमान लागू किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हमने पिछली बार सत्ता में आने के बाद प्रदेश सम्भाला तो कई मुसीबतें सामने खड़ी थीं, लेकिन जब हम दुबारा सत्ता मे आए तो स्थिति और ज्यादा विकट मिली। इसके बावजूद हमने सभी समस्याओं का समाधान निकाला और किसान, युवा, महिला, बुजुर्गों सहित हर वर्ग को राहत दी। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के कल्याण में भी सरकार ने कोई कमी नहीं रखी। देश के कई राज्यों में अभी तक 7वें वेतनमान का लाभ नहीं दिया गया है, लेकिन ढाई लाख करोड़ से भी अधिक के कर्जे के बावजूद राज्य में 7वां वेतनमान लागू किया गया। इसके साथ ही डीपीसी के लिए अनुभव में शिथिलता, दो वर्ष की चाइल्ड केयर लीव, स्वास्थ्य बीमा की राशि में बढ़ोतरी, सचिवालय में क्रेच तथा तीसरी संतान सम्बंधी नियमों में शिथिलता सहित कई निर्णय कर्मचारियों के हित में लिए। राजेे ने कहा कि राज्य सरकार ने अब तब एक लाख 80 हजार पदों पर स्थाई नियुक्तियां दी हैं। साथ ही एक लाख 30 हजार पदों पर भर्ती की जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *