कोरी घोषणाओं में नहीं हमारा विश्वास, हम जो कहते हैं पूरा करते हैं: राजे

कोरी घोषणाओं में नहीं हमारा विश्वास, हम जो कहते हैं पूरा करते हैं: राजे

जयपुर/सूरतगढ़। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि हम कोरी घोषणाएं नहीं करते। हमारा विश्वास की गई घोषणाओं को सही मायने में धरातल पर लाने में है। हम जो कहते हैं, वो करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार जनता के सभी जायज काम पूरी तत्परता से पूरा करने में यकीन रखती है। उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्ष में हमने लोगों के वो काम किए हैं, जो 50 साल में नहीं हो पाए।

श्रीमती राजे मंगलवार को श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ में विश्नोई सभा समिति की ओर से आयोजित अभिनंदन कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि हम लोगों को वोटों के लिए जात-पांत के आधार पर नहीं बांटते, बल्कि हमारा फोकस राजस्थान के समग्र विकास पर है। हमारा प्रयास है कि जनता के सभी वाजिब काम राजी-खुशी हों, किसी को सड़क पर नहीं आना पड़े।

यह सरकार मेरी नहीं आपकी

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सरकार मेरी नहीं आपकी है। जो भी पैसा है आपका है। जनहित में एक-एक पाई का सदुपयोग हो, यही हमारा प्रयास है। उन्होंने कहा कि आप सब इसी तरह प्यार देते रहें, हम मेहनत करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। आप सबके साथ से ही राजस्थान का विकास संभव है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजेन्द्रानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि मुख्यमंत्री की लोकप्रियता केवल राजस्थान नहीं, बल्कि पूरे देश में है। उन्होंने कहा कि श्रीमती राजे की बेहतरीन कार्य कुशलता से राजस्थान तेजी से विकास के पथ पर बढ़ रहा है। विधायक राजेन्द्र भादू ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में प्रदेश के साथ-साथ सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हुआ है। इससे पहले विश्नोई सभा समिति के अध्यक्ष भागीरथ कड़वासरा ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

अब सभी जिला कलेक्ट्रेट में अन्नपूर्णा रसोई पर 2 रुपए में चाय

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि प्रदेश की सभी 33 जिला कलेक्ट्रेट में लोगों को अन्नपूर्णा रसोई पर 5 रुपए में नाश्ता, 8 रुपए में भोजन के साथ-साथ 2 रुपए में चाय और आरओ का साफ पानी भी मिलेगा। राजे ने यह जानकारी मंगलवार को श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम से पहले दो अन्नपूर्णा रसोई का शुभारम्भ करते हुए दी। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर कार्यालयों में अपने कामों के लिए बड़ी संख्या में लोग आते हैं, उन्हें जलपान के लिए परेशान नहीं होना पड़े, इसे देखते हुए राज्य सरकार ने सस्ते भोजन के साथ-साथ 2 रुपए में चाय और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 156 शहरों में 405 अन्नपूर्णा रसोई वेन संचालित है। 15 अप्रैल तक इनकी संख्या 533 हो जाएगी। उन्होंने कहा कि गंगानगर जिले में 24 एवं हनुमानगढ़ जिले में 16 अन्नपूर्णा रसोई वेन संचालित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *