बंद समर्थकों ने जबरन दुकानों को बंद करवाकर उत्पात मचाया

बंद समर्थकों ने जबरन दुकानों को बंद करवाकर उत्पात मचाया

-टोंक रोड पर निजी वाहनों, लो-फ्लोर सहित दर्जनों गाडिय़ों के शीशे तोड़े
-महेशनगर फाटक पर रेल रोकी, जनपथ पर सरकारी कारों में तोडफ़ोड़

जयपुर। एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के विरोध में विभिन्न सामाजिक संगठनों ने सोमवार को बंद का आह्वान किया था। इसी क्रम में सामाजिक संगठन सुबह 9 बजे चांदपोल गेट के बाहर संजय सर्किल पर एकत्रित हुए। इस दौरान व्यापारिक मंडलों से बंद रखने का आह्वान किया गया। बंद समर्थकों ने जबरन दुकानों को बंद करवाकर उत्पात मचाया। महेश नगर और बरकत नगर इलाके में रैली के दौरान मीणा समुदाय सरियों और लाठियों से लैस रहा। बेरोजगार और गरीब जो गन्ने का रस चलवाहनों पर बेच रहे थे उनके गन्ने लूट लिए गए। टोंक रोड पर दर्जनों लो फ्लोर बसों और निजी वाहनों के शीशे तोड़ दिए गए। इससे सवारियों में दहशत का माहौल रहा। परीक्षाओं के दौरान परीक्षा देने गए छात्र-छात्राओं में कई वापिस घर लौटने में खासे परेशान हुए। लोग फोन पर अपने बच्चों की जानकारी लेते रहे। यहां तक की प्रदर्शनकारियों ने दुपहिया वाहन चालकों को भी नहीं बख्शा।

इस दौरान प्रदर्शनकारी पूरी तरह से अनियंत्रित होकर लाठियों और सरियों के साथ नारेबाजी करते हुए बाजारों में नजर आए। पुलिस वाले मूक दर्शक बने रहे और खुद दुकानें बंद कराते रहे। कई व्यापारियों ने कन्ट्रोल रूम पर फोन किया लेकिन वहां का फोन या तो बंद रहा या फिर उठा नहीं। प्रदर्शनकारियों की रैली त्रिपोलिया बाजार, बड़ी चौपड़, जौहरी बाजार, सांगानेरी गेट होते हुए रामनिवास बाग पहुंची। वहीं शिष्टमंडल द्वारा मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, मुख्य सचिव और जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया। हालांकि इस बंद से शिक्षण संस्थानों, अस्पताल और आपातकालीन सेवाओं और बसों के संचालन को दूर रखा गया लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं था। परेशान सभी जगह लोगों को किया गया।

रेलवे ट्रेक पर ट्रेनें रोकी, रैली निकाली

राजधानी जयपुर में बंद का मिलाजुला असर रहा। चारदीवारी में दुकानें बंद रही। शहर के बरकतनगर, महेशनगर में दलित छात्र रेलवे ट्रेक पर आ गए थे। छात्रों ने गांधीनगर स्टेशन पर ट्रेनें काफी देर के लिए रूकी रही। जिन्हें पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर हटाया। सांगानेर से लेकर बी टू बाइपास पर बंद रहा। ट्रेफिक को पुलिस ने डाइवर्ट कर रखा है। दुर्गापुरा में डालडा फैक्ट्री पर रास्ता जाम कर रखा था। इसी तरह टोंक रोड पर रामबाग सर्किल पर काफी देर तक ट्रेफिक जाम रहा। बरकतनगर, महेशनगर, टोंक फाटक में रह रहे छात्रों ने रैली निकाली।

मेट्रो ट्रेन का संचालन बंद किया

बंद के दौरान पूरा शहर अस्त व्यस्त रहा। एससी, एसटी वर्ग के विरोध प्रदर्शन और रैलियों के कारण पूरे शहर में ट्रेफिक जाम रहा। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए जयपुर मेट्रों ने 11 बजे से 1 बजे तक अपना संचालन बंद कर दिया है। गांधीनगर में छात्रों के रेलवे ट्रेक पर आने के कारण तीन ट्रेनें रुकी हुई है। सांगानेर, प्रतापनगर, टोंक फाटक, महेशनगर, दुर्गापुरा में छात्रों ने बंद कराया। ट्रेनें रोकी छात्रों ने गांधीनगर स्टेशन पर तीन ट्रेनें रोक दी गई थी। इनमें एक रानीखेत व दो मालगाडिय़ां है। ट्रेनें काफी देर के लिए रूकी रही। जिन्हें पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर हटाया। सांगानेर से लेकर बी टू बाइपास पर बंद रहा। ट्रेफिक को पुलिस ने डाइवर्ट कर रखा है। दुर्गापुरा में डालडा फैक्ट्री पर रास्ता जाम कर रखा था। इसी तरह टोंक रोड पर रामबाग सर्किल पर काफी देर तक ट्रेफिक जाम रहा। सांगानेर में प्रतापनगर, श्योपुर रोड पर बरकतनगर, महेशनगर, टोंक फाटक में रह रहे छात्रों ने रैली निकाली। रैली के कारण जाम रैली के कारण पूरे शहर का ट्रेफिक अस्त व्यस्त हो गया। बंद के दौरान हो रहे प्रदर्शन व रैलियों के कारण टोंक रोड, व एमआई रोड़ पर ट्रेफिक जाम रहा। कई कई किमी लंबी लाइनें लग गई।

जनपथ पर सरकारी गाडिय़ों के शीशे तोड़े

बंद समर्थकों ने विधुत भवन के आसपास व ज्योतिनगर थाने के आसपास दर्जनों गाडिय़ों के शीशे तोड़े। उन्होंने वहां खड़ी सरकारी और निजी वाहनों में जमकर तोडफ़ोड़ की। विधानसभा के बाहर रखे गमले भी तोड़े। घटना के दौरान पुलिस के साथ एक्स्ट्रा फोर्स मौके पर मौजूद थी। इसके साथ ही राजधानी चार घंटे तक उपद्रवियों के हवाले रही। बंद के दौरान पूरे शहर में उत्पात की कई घटनाएं सामने आई है। बंद करवाने के लिए हाथों में लाठियां लेकर निकले उत्पाती युवकों ने कई जगह की तोडफ़ोड़ की। सोडाला, टोंक फाटक, महेश नगर, दुर्गापुरा ,प्रताप नगर और सांगानेर सहित कई इलाकों में तोडफ़ोड़ और दुकानदारों से मारपीट की घटनाएं भी हुई मोटरसाइकिल पर सवार उत्पाती युवकों ने कई जगह आतंक मचाया। कुछ स्थानों पर महिला राहगीरों से छेड़छाड़ की कई घटनाएं भी सामने आई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *