पानी की दरें बढ़ाने के विरोध में 100 जलदाय कार्यालयों पर कांग्रेस का मटका फोड़ प्रदर्शन

पानी की दरें बढ़ाने के विरोध में 100 जलदाय कार्यालयों पर कांग्रेस का मटका फोड़ प्रदर्शन

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं जयपुर जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास के आह्वान पर जयपुर के लगभग 100 जलदाय कार्यालयों पर भाजपा सरकार द्वारा पानी की दरें दूसरी बार बढ़ाये जाने के विरोध में जबरदस्त मटका फोड़ प्रदर्षन किया गया।
शुक्रवार सुबह 11 बजे से ही जयपुर के 91 वार्डों में सभी जलदाय कार्यालयों पर सैकड़ों की तादाद में स्थानीय नागरिकों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुये खाली मटके लेकर पहुंचे। कार्यकर्ता पानी की बढ़ी दरें वापिस लो, तानाषाही नहीं चलेगी, वसुंधरा सरकार होष में आओ, जैसे नारे लगा रहे थे। सभी वार्डों में कांग्रेस के वार्ड अध्यक्षों और उन वार्डों में रहने वाले कांग्रेस के नेताओं ने विरोध प्रदर्शन का मोर्चा संभाल रखा था।

जल भवन, हसनपुरा पर वार्ड नं. 22, 27 व 28 के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ जयपुर शहर जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास के नेतृत्व में विशाल मटका फोड़ प्रदर्शन हुआ। इसके बाद खाचरियावास के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजस्थान के मुख्य अभियंता इस्लामुदीन खान को मुख्यमंत्री के नाम पानी की दरें कम करने की मांग को लेकर ज्ञापन दिया। साथ ही चीफ इंजीनियर को बढ़ती गर्मी को देखते हुए जयपुर सहित राजस्थान के सभी जिलों में पानी की उचित व्यवस्था करने की कांग्रेस पार्टी द्वारा मांग की गई।

खाचरियावास ने भाजपा सरकार के 22 सितम्बर 2015 को पानी की दरें बढ़ाए जाने के आदेश का हवाला देते हुये कहा कि राज्य सरकार की आंखों का पानी मर गया है। इसलिए अब पीने का पानी भी इतना महंगा कर दिया है कि लोग महंगे बिलों के कारण पानी के बिल नहीं चुका पाएंगे। 2015 में भाजपा सरकार ने 17 वर्ष बाद बहुत ज्यादा पानी की दरें बढ़ाते हुये यह काला आदेश जारी कर दिया कि अब प्रतिवर्ष पानी की दरें जल राजस्व खर्चों के अनुसार 10 प्रतिशत बढ़ जायेगी, लेकिन वह वास्तविकता में 10 प्रतिशत ना होकर आम नागरिकों के बिलों में 20 प्रतिशत बढ़कर आ रही है, क्योंकि सरकार द्वारा मीटर चार्ज, आधारभूत सुविधा चार्ज, पानी चार्ज सहित अनेकों मदों पर भी 10 प्रतिशत राषि बढ़ा दी गई है, जबकि यह वास्तव में जल आपूर्ति पर ही बढऩी चाहिये थी, लेकिन सभी मदों पर 10 प्रतिशत राशि बढऩे के कारण वो जनता तक 20 प्रतिषत होकर बिलों में पहुंच रही है जो कि मंहगाई के इस दौर में अत्यधिक वृद्धि है।

खाचरियावास ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और जनता से अपील की है कि पेट्रोल-डीजल और बिजली के बाद पीने का पानी बहुत ज्यादा महंगा कर देने वाली भाजपा सरकार के नेता जब आपके बीच में आये, तो उनका घेराव करें और पानी की दरें कम करने की मांग करे।
किशनपोल क्षेत्र में-अमीन कागजी, ज्योति खण्डेलवाल, विद्याधर नगर-विक्रमसिंह, मंजू शर्मा, शास्त्री नगर-मनोज मुद्गल, नवीन शर्मा, विष्णु बियानी, पीयूष मंगल, राजबहादुर सिकरिया, आदर्श नगर-मुकेश भाटिया, गुलाम मुस्तफा, सांगानेर-बिरदीचंद शर्मा, रमेश शर्मा, मानसरोवर-रितु अग्रवाल, रवि हेमलानी, हवामहल-बृजकिशोर शर्मा, बगरू-डॉ. प्रहलाद रघु, हनुमान मीणा, सिविल लाईन्स-पार्षद लक्ष्मणदास मोरानी, मुनेश कुमारी, साधुराम शर्मा, रोहिताश सिंह, रेणूबाला शर्मा, सरलेश राणा, विमल यादव, भावना शर्मा, अमिता मधुप, उमेश शर्मा, हर्षल आमेरिया, सी-स्कीम-विपिन यादव, धर्मेन्द्र शर्मा आदि अनेकों स्थानों पर मटका फोड़ प्रदर्शन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *