सवर्ण आरक्षण की मांग पर करणी सेना सद्बुद्धि यज्ञ नहीं होने दिया, विद्याधर नगर बना छावनी, धारा 144 लगाई

सवर्ण आरक्षण की मांग पर करणी सेना सद्बुद्धि यज्ञ नहीं होने दिया, विद्याधर नगर बना छावनी, धारा 144 लगाई

जयपुर। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना और अन्य सहयोगी संगठनों ने संयुक्त रूप से रविवार को सवर्ण आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन शुरू कर दिया। करणी सेना ने रविवार को सद्बुद्धि यज्ञ का आयोजन किया जाना था लेकिन पुलिस ने यज्ञ नहीं करने दिया। करणी सेना का सोमवार को महापड़ाव का ऐलान देखते हुए जयपुर के विद्याधर नगर इलाके में धारा 144 लगा दी है। बताया जा रहा है कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। पुलिस के साथ ही बीएसएफ और आरएसी की कंपनियां भी तैनात की गई है।

विद्याधर नगर को छावनी बनाने को लेकर श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने राजस्थान सरकार पर निशाना साधा है। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी का कहना है, आज बाबा भैरोसिंह शेखावत के स्मृति स्थल विद्याधर नगर में सद्बुद्धि यज्ञ का आयोजन किया जाना था, लेकिन राजस्थान सरकार ने हवन तक नहीं करने दिया और बीएसएफ की पंद्रह कंपनियां तैनात कर दी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हिंदुओं को दबाने की कोशिश कर रही है। गोगामेड़ी ने स्वर्ण समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा, वे घरों से बाहर निकलें और अपनी गिरफ्तारी दें। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना का कहना है कि आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू होना चाहिए।

राजधानी में रविवार को एक और आंदोलन की आहट ने पुलिस की नींद उड़ा दी। करणी सेना ने रविवार को अन्य समाजों के साथ मिलकर विधाधर नगर के स्टेडियम में आरक्षण की मांग को लेकर सद्बुद्धि यज्ञ और स्टेडियम में सभा करने की घोषणा की थी। जिसके बाद से पुलिस विभाग की नींद उड़ी हुई थी। करणी सेना ने आरक्षण की मांग को लेकर अन्य समाजों के साथ मिलकर शहर के विधाधर नगर के स्टेडियम में यज्ञ और सभा करने के लिए पुलिस से अनुमति मांगी थी। पुलिस ने आरक्षण जैसे मुद्दे को संवेदनशील मानते हुए करणी सेना को कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं दी।

यहीं नहीं पुलिस ने विधाधर नगर के स्टेडियम के पास पुलिस का भारी जाब्ता तैनात कर दिया। लेकिन करणी सेना ने पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध करते हुए विधाधर नगर के स्टेडियम में जाने का प्रयास किया तो पुलिस ने करणी सेना के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया और उन्हें जयपुर के बाहर ले जाकर छोड़ दिया गया।

पुलिस कमिश्नर से मिलकर गोगामेड़ी ने सौंपा ज्ञापन

पुलिस से छूटकर सुखदेव सिंह गोगामेड़ी समेत एक प्रतिनिधिमंडल रविवार शाम को ही पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय पहुंच गया। वहां गोगामेड़ी ने पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में सवर्ण आरक्षण देने की मांग की। साथ ही, चतरसिंह हत्याकांड में परिजनों को मुआवजा देने, गैंगस्टर आनंदपाल सिंह की बेटी पर लगाए मुकदमे वापस लेने, हर्षिता शर्मा हत्याकांड, उनियारा की जांच सीबीआई और चंद्रशेखर शर्मा हत्याकांड, मालपुरा की जांच सीआईडी सीबी से करवाने समेत सात सूत्री मांगें रखीं। इनमें पुलिस कमिश्नर ने कुछ मांगों पर सहमति जताई। गोगामेड़ी ने अगले 15 दिनों में मांगे पूरी नहीं करने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *