श्रीमाधोपुर में जनसंवाद: परिजन के अंगदान का साहस दिखाने वालों को सलाम: राजे

श्रीमाधोपुर में जनसंवाद: परिजन के अंगदान का साहस दिखाने वालों को सलाम: राजे

श्रीमाधोपुर/जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने सीकर जिले के श्रीमाधोपुर की एक ब्रेनडेड घोषित महिला अनिता के परिजनों द्वारा प्रत्यारोपण के लिए अंगदान कर कई जरूरतमंद मरीजों को नया जीवन देने की घटना को समाज के लिए प्रेरणादायी बताया है। उन्होंने इस महिला के परिजनों की मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे 4 लोगों को जीवनदान मिला है और ऑर्गन डोनेशन जैसे पुनीत काम को प्रोत्साहन मिला है।

राजे सोमवार को सीकर जिले के श्रीमाधोपुर में जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि राजस्थान के एक छोटे से कस्बे की एक महिला के परिजनों ने ऐसी इच्छाशक्ति और जज्बा दिखाकर 4 लोगों के जीवन को रोशन किया है। यह हमारे लिए गर्व की बात है। उन्होंने जनसंवाद शुरू करने से पहले इस महिला को श्रद्धांजलि देने के लिए एक मिनट का मौन भी रखवाया। उल्लेखनीय है कि अनिता को बीते दिनों एक सड़क दुर्घटना में घायल होने के बाद ब्रेनडेड घोषित किया गया था। इस महिला की किडऩी, लीवर और हार्ट डोनेट किए गए।

निशानेबाज ओमप्रकाश और अपूर्वी के परिजनों का किया सम्मान

मुख्यमंत्री ने जनसंवाद के दौरान कॉमनवेल्थ खेलों में ब्रॉन्ज मैडल जीतने पर प्रदेश के दो होनहार शूटर्स ओमप्रकाश मिठारवाल तथा अपूर्वी चंदेला को भी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। राजे ने कहा कि श्रीमाधोपुर के पास छोटे से गांव सिहोडी के ओमप्रकाश मिठारवाल तथा जयपुर की अपूर्वी की इस उपलब्धि से देश एवं प्रदेश का नाम रोशन हुआ है। ओमप्रकाश के पिता सज्जनसिंह, माता शांति देवी और अन्य परिजन राजे से मिले। मुख्यमंत्री ने उन्हें बधाई दी और उनका सम्मान किया।

अप्रधान खनिजों का राजस्थान में ही हो उपयोग

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि फेल्सपार, सोडा तथा पोटाश जैसे अप्रधान खनिजों पर आधारित उद्योगों को राजस्थान में ही प्रोत्साहन मिले। इसके लिए हमें इन खनिजों का दूसरे राज्यों में भेजे जाने की बजाय राजस्थान में ही उनका उपयोग करने की योजना बनानी होगी, ताकि स्थानीय लोगों को रोजगार के अधिक अवसर मिलें।

आंगनबाड़ी में प्रवेश लेने वाली बालिकाओं से मिलीं मुख्यमंत्री

राजे ने श्रीमाधोपुर में जनसंवाद से पहले इसी वर्ष शाला पूर्व शिक्षा के लिए आंगनबाड़ी में प्रवेश लेने वाली 10 नन्ही-नन्नी बालिकाओं से मुलाकात की। उन्होंने बच्चियों को खिलौने और टॉफियां दीं। मुख्यमंत्री ने तीन मेधावी छात्राओं को स्कूटी तथा पांच छात्राओं को लैपटॉप भी वितरित किए।

परिवार नियोजन अपनाने वाली महिलाओं का सम्मान

मुख्यमंत्री ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान तथा महिला सशक्तीकरण के प्रति सकारात्मक माहौल को प्रोत्साहित करने के लिए श्रीमाधोपुर की पांच ऐसी महिलाओं को भी सम्मानित किया, जिन्होंनेे दो बेटियां पैदा होने के बाद परिवार नियोजन अपनाया है। उन्होंने कहा कि बेटियां हमारी अनमोल धरोहर हैं और समाज में बेटी के जन्म को एक उत्सव का स्थान मिलना चाहिए।
इस अवसर पर देवस्थान राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा, सांसद सुमेधानंद, विधायक झाबरसिंह खर्रा और अभिषेक मटोरिया, अन्य जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी तथा आमजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *