कोटा: 15 घंटे बाद मलबे में दबा मिला शव

कोटा: 15 घंटे बाद मलबे में दबा मिला शव

कोटा। धानमंडी में ढही होटल की तीन मंजिला इमारत के मलबे में दबने से आखिरकार एक युवक की मौत हो ही गई। इमारत ढहने के बाद चले रेस्क्यू ऑपरेशन के 15 घंटे बाद शनिवार आधी रात को मलबे में दबे युवक सद्दाम को ढूंढ लिया गया, लेकिन तब तक उसकी सांसें थम चुकी थी। हादसे के बाद गुमानपुरा थाने में होटल मालिक अनवर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

युवक सद्दाम होटल के कमरा नंबर 108 में सोया हुआ था। इसकी रेस्क्यू टीम को जानकारी मिल गई थी, लेकिन भारी मलबे के कारण उसे बड़ी मुश्किल से ढूंढा जा सका। पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान सद्दाम के परिजन इस उम्मीद के साथ मौके पर डटे रहे कि क्या पता उनका बेटा जिंदा मिल जाए, लेकिन ऐसा हो न सका। बाद में सद्दाम के शव को अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया गया, जहां रविवार को उसका पोस्टमार्टम करवाया गया। मोर्चरी के बाहर पुलिस व परिजनों का जमावड़ा लगा रहा। परिजनों ने मुवावजे व उचित कार्रवाई की मांग की है।
उल्लेखनीय है कि हादसा शनिवार सुबह करीब 11.15 बजे हुआ था। तीन मंजिला यह होटल कोटा निवासी अनवर का था। होटल की यह इमारत अवैध थी और काफी पुरानी हो चुकी थी। बिल्डिंग में होटल के साथ ही रेस्टोरेंट व बीयर बार चलता था। अचानक इमारत गिरने से उसमें मौजूद आधा दर्जन लोग मलबे में दब गए थे। हादसे के बाद रेस्क्यू टीम ने तत्परता बरतते हुए उनमें से पांच लोगों को कुछ देर बाद ही जिंदा बाहर निकाल लिया था, लेकिन सद्दाम का पता नहीं चल पाया था। उसका शव देर रात मिला।

इमारत अवैध थी, अब किया जा रहा है सीज

शनिवार को भरभराकर गिरी होटल की तीन मंजिला इमारत अवैध थी। नियमों को ताक में रखकर बनाई गई इस इमारत में होटल, बार और रेस्टोरेंट चल रहे थे। बेहद पुरानी और जर्जर हो चुकी इस इमारत को कोटा के अनवर नाम के शख्स ने रंगरोगन करके होटल का रूप दे दिया और इसमें बीयर बार और रेस्टोरेंट खोल दिया। शनिवार को हादसा होने के बाद प्रशासन की नींद खुली और अब प्रशासन इस इमारत को सीज करने की कार्रवाई कर रहा है। गमीमत यह रही होटल मालिक अनवर के घर में शादी समारोह के चलते शनिवार को ना तो होटल की बुकिंग चालू थी और दिन का समय होने की वजह से बार भी बंद था। रेस्टोरेन्ट में कुछ वेटर्स समेत चुनिंदा लोग ही मौजूद थे।

दो इमारतों को जोड़ रखा था

दरअसल गिरने वाली इमारत के पास सटी हुई एक और इमारत है। अनवर ने दोनों इमारतों को आपस में कनेक्ट कर रखा है और उनमें होटल, रेस्टोरेंट व बार चलाता है। दोनों इमारतों में से एक नगर निगम के और एक यूआईटी के क्षेत्राधिकार में आती है। हादसे के बाद दोनों सरकारी तंत्र जागे और अब दोनों इमारतों को सीज करने की कार्रवाई की जा रही है। एक इमारत को यूआईटी और एक को नगर निगम सीज कर रहा है। इमारत गिरने के बाद चलाए गए रेस्क्यू ऑपरेशन का खर्चा भी होटल मालिक से वसूलने की तैयारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *