गुजरात विधायक जिग्नेश एयरपोर्ट पर नजरबंद

गुजरात विधायक जिग्नेश एयरपोर्ट पर नजरबंद

-हाईवोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा: नहीं जाने दिया मेडता

जयपुर। गुजरात के एक विधायक से राज्य सरकार और समूचा प्रशासन इस कदर भयभीत नजर आया कि रविवार को उन्हें एयरपोर्ट से बाहर ही नहीं निकलने दिया गया। गुजरात के बडग़ांव से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी रविवार को जयपुर पहुंचे। नागौर के मेड़तारोड रवाना होने से पहले जिग्नेश को पुलिस ने एयरपोर्ट के बाहर रोक लिया और करीब साढ़े चार घंटे तक नजरबंद रखा। जिग्नेश वहां डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती से संबंधित कार्यक्रम में भाग लेने वाले थे। इस बीच कई बार जिग्नेश और उनके समर्थकों के बीच पुलिस अधिकारियों से बहस होती रही। आखिरकार, दोपहर को जिग्नेश को पाबंद कर एक नोटिस की तामील करवाई। तब पुलिस ने जिग्नेश को रवाना किया।

नागौर जिले के मेड़तारोड में रविवार को राज्य स्तरीय डा. भीमराव अम्बेडकर जयंती समारोह में हिस्सा लेनेे के लिए जिग्नेश मेवाणी रविवार सुबह करीब 10 बजे जयपुर एयरपोर्ट पहुंचे। जिग्नेश यहां से सड़क मार्ग से मेड़ता जाने वाले थे। इससे पहले ही कुचामन सिटी के उपाधीक्षक विद्याप्रकाश चौधरी के नेतृत्व में सादा वस्त्रों में पुलिस टीम नागौर से जयपुर एयरपोर्ट पहुंच गई। सीओ विद्याप्रकाश ने एयरपोर्ट से उतरते ही विधायक जिग्नेश को नागौर के कलेक्टर और एसपी के आदेश तामील करवाकर मेड़ता नहीं जाने के लिए पाबंद कर दिया। इसकी सूचना जयपुर कमिश्नरेट के अधिकारियों को भी दी। बाद में डीसीपी पूर्व कुंवर राष्ट्रदीप और जवाहर सर्किल थानाप्रभारी राजेश सोनी भी एयरपोर्ट के बाहर पहुंच गए। जहां जिग्नेश और उनके तीन-चार समर्थक इनोवा कार में मौजूद थे। तब पुलिस ने जिग्नेश को वहीं रोक लिया। उन्हें धारा 144 को देखते हुए आगे जाने से रोक दिया और नजरबंद रखा।

गोपाल केशावत अरेस्ट

इसी बीच जिग्नेश के जयपुर आने की सूचना पर पूर्व राज्यमंत्री रहे गोपाल केशावत और अन्य दलित संगठनों के पदाधिकारी उनसे मिलने पहुंच गए। समर्थकों को बढऩे की आशंका से एडिशनल डीसीपी हनुमान सिंह समेत मालवीय नगर और बजाजनगर थाने का पुलिस जाब्ता मौके पर बुला लिया गया। बजाज नगर पुलिस ने मौके पर मौजूद गोपाल केशावत को गिरफ्तार कर लिया। उधर, डीसीपी पूर्व कुंवर राष्ट्रदीप का कहना था कि केशावत के खिलाफ बजाज नगर थाने में दर्ज आठ साल पुराने मुकदमे में कोर्ट से स्टैंडिंग वारंट जारी था, जिसमें गोपाल केशावत को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा मौके पर ही जिग्नेश के एक समर्थक को भी हिरासत में लिया जो अपने मोबाइल से जिग्नेश की लाइव भाषण प्रसारित करना चाह रहा था। दोपहर करीब दो बजे ट्रांसपोर्ट नगर थानाप्रभारी नरेश मीणा मौके पर जयपुर कमिश्नरेट के अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर नितिनदीप बल्लगन के आदेश लेकर पहुंचे। इसमें जिग्नेश को 15 अप्रेल से 30 अप्रेल तक जयपुर में किसी भी तरह की सभा, रैली या भाषण नहीं करने के लिए पाबंद कर दिया गया। आदेशों की तामील करवाने के बाद दोपहर करीब ढ़ाई बजे पुलिस ने जिग्नेश को रवाना किया। इस बीच पुलिस की एक टीम को उनकी निगरानी में रवाना किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *