इम्पेक्ट बड़ी खबर: लकड़ी टाल संचालक को 24 घण्टे का नोटिस

इम्पेक्ट बड़ी खबर: लकड़ी टाल संचालक को 24 घण्टे का नोटिस

-समाचार प्रकाशन के बाद जागा निगम और जनप्रतिनिधि

-मौके पर पहुंची पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल

जयपुर। किशनपोल स्थित खूटेंटों के रास्ते में लकड़ी की टाल से आग लगने के पांच दिन बाद मंगलवार को छठे दिन निगम प्रशासन और जनप्रतिनिधि हरकत में आए। बड़ी खबर डॉट इन ने सोमवार को ‘आग के बाद धुंआ-धुआं जिन्दगीÓ शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर निगम प्रशासन और पुलिस प्रशासन की लापरवाही का विस्तार से खुलासा किया था।

खबर में बताया गया था कि रसूखदार किराएदार ने आग का मलबा नहीं उठवाने दिया। यहां तक की नगर निगम की भेजी गई जेसीबी को कोतवाली पुलिस ने जब्त कर लिया। जबकि खुद किराएदार जिसकी टाल में आग लगी थी वह अपनी पूरी दुकान चला रहा था। समाचार प्रकाशित होने के बाद मंगलवार सुबह जहां स्थानीय जनप्रतिनिधि और पूर्व मेयर ज्योति खंडेलवाल मौके पर पहुंची, वहीं नगर निगम के आयुक्त रवि जैन के निर्देश पर नगर निगम के हवामहल जोन पश्चिम की तरफ से लकड़ी टाल वाले किराएदार मैसर्स राधेश्याम मूलचंद को 24 घण्टे का नोटिस जारी किया है कि वह मलबा हटवाए अन्यथा निगम हटवाएगा और उसका हर्जा खर्जा संबंधित से वसूल करेगा।

गौरतलब है कि 5 दिन पूर्व खूटेंटों के रास्ते स्थित लकड़ी के गोडाउन में हुई आगजनी के बाद वहां जला हुआ मलबा आज भी पड़ा हुआ है लेकिन नगर निगम प्रशासन ने वहां से ना तो स्वयं मलबा हटाया नही अनाधिकृत रूप से लकड़ी का गोदाम संचालित कर रहे किराएदार से हटवाया। जिस मकान के बाहर यह आगजनी हुई उस में रह रहे वाशिंदे आज 5 दिन से आग के ढेर के पास डर के साये मे रह रहे हैं उन्हें यही डर सताता है कि फिर कहीं इस मलबे ने आग पकड़ ली तो हमारा क्या होगा क्योंकि पांच दिन पूर्व जब आग लगी तब बड़ी मुश्किल से उन सभी मकान में रहने वाले व्यक्तियों ने पड़ोसियों की मदद से व दमकल कर्मियों की मदद से अपनी जान बचाई। उस मकान में 30 से अधिक लोग रहते हैं जिनमें 10 व्यक्ति 70 साल से अधिक उम्र के हैं ऐसे में 5 दिन तक वह डर के साए में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। इस आगजनी में उनके व्हीकल स्कूटर और गाड़ी भी जलकर स्वाहा हो गए और जो एक दो गाडिय़ां गैरेज में थी उनके आगे मलवा होने की वजह से वह उन गाडिय़ों को काम में नहीं ले पा रहे हैं। बार-बार नगर निगम व पुलिस प्रशासन से गुहार करने के बाद भी 5 दिन से वह इस परेशानी को झेल रहे हैं लेकिन ना तो नगर निगम ने ना ही पुलिस प्रशासन ने उस मलबे को हटवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *