आसाराम: आश्रम का खाना बंद, गुड़ चने खाए

आसाराम: आश्रम का खाना बंद, गुड़ चने खाए

जोधपुर। आसाराम को बुधवार को पांच साल पहले नाबालिग बच्ची से रेप करने के आरोप में उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इसके बाद सेंट्रल जेल में कैदी नंबर 130 आसाराम अपनी जिंदगी बीता रहा है। आसाराम की सजा के खिलाफ उनके वकीलों ने हाईकोर्ट में अपील की।
आसाराम ने कैद की दिनचर्या में पहले ही दिन से बदल गई है। आसाराम को एक कैदी की तरह सुबह उठाया गया। उसने सुबह थोड़ा योगा किया और उसके बाद जेल से मिलने वाला नाश्ता मूंगफली, चने और गुड़ खाए. इसके साथ ही आसाराम की कैदी वाली जिंदगी आज से शुरू हो गई। इससे पहले कल शाम को आसाराम का आश्रम से टिफिन नहीं आया।

देर रात तक परेशान और गुस्से में दिखाई दिया और काफी देर टहलने के बाद सो गया। इसके साथ ही आसाराम को गुजरात ले जाए जाने की तैयारियां भी अंदर ही अंदर चालू है। गुजरात पुलिस कभी भी आसाराम को यहां से ले जा सकती है। अब देखने वाली बात है कि आसाराम कब तक जोधपुर सेंट्रल जेल में 130 नंबर के कैदियों वाले कपड़े पहनकर काम करता नजर आएगा।

किस मामले में मिली सजा

बता दें कि आसाराम को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में रहने वाली एक लड़की के साथ रेप करने के आरोप में सजा मिली है। पीडि़ता उत्तर मध्य प्रदेश के छिन्दवाड़ा में आसाराम के आश्रम में पढ़ती थी। उसने अपने बयान में आरोप लगाया था कि आसाराम ने 15 अगस्त 2013 को उसे अपने जोधपुर के मनई आश्रम में बुलाकर उसका रेप किया था।

जज मधुसूदन शर्मा की सुरक्षा बढ़ाई गई

रेप केस में आसाराम को सजा सुनाने वाले एससी-एसटी कोर्ट पीठासीन अधिकारी मधुसुदन शर्मा की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जिला जज केडर के अधिकारी मधुसुदन शर्मा की कोर्ट के बाहर हथियारबंद सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। शर्मा की सुरक्षा में दो पीएसओ और कई जवानों को तैनात किया गया जो शर्मा को 24 घंटे सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं।

नहीं करनी पड़ेगी मजदूरी

उम्रकैद की सजा के बाद आसाराम को जोधपुर सेंट्रल जेल अधीक्षक से थोड़ी राहत मिली है। अधीक्षक के अनुसार उम्र को देखते हुए आसाराम से श्रम नहीं कराया जाएगा। जोधपुर सेंट्रल जेल अधीक्षक विक्रम सिंह ने गुरुवार को बताया कि जो व्यवहार सजायाफ्ता कैदी के साथ जेल में होता है वही आसाराम के साथ होगा। हालांकि उम्र ज्यादा है और लाचारी में जरूरी नहीं है काम करे। फिर भी वो काम करना चाहे तो कर सकता हैं। जेल अधीक्षक सिंह ने बताया कि आसाराम बिल्कुल स्वस्थ है और गुरुवार को पहला दिन गुरुवार को अन्य सामान्य कैदियों की तरह गुजरा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *