गहलोत की मेहनत: जनाक्रोश रैली में उमड़ा जनसैलाब

गहलोत की मेहनत: जनाक्रोश रैली में उमड़ा जनसैलाब

– शेर के बच्चे हैं कांग्रेसी: राहुल गांधी

नई दिल्ली/जयपुर। वर्ष 2019 में संभावित आम चुनावों में अब लगभग एक वर्ष का समय रह गया है। ऐसे में कांग्रेस सत्तारूढ़ बीजेपी पर हमला करने का कोई अवसर गंवाना नहीं चाहती। केंद्र सरकार के प्रति कथित असंतोष को तमाम विपक्षी एक अवसर के तौर पर देख रहे हैं।
दरअसल, कांग्रेस ने रविवार को राष्ट्रीय राजधानी के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में जनाक्रोश रैली का आयोजन किया। इस रैली में राजनीति के तमाम दिग्गज मौजूद रहे। अपने संबोधन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं में जम कर उत्साह भरा।

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के मौजूदा जनरल सेक्रेटी अशोक गहलोत ने जनआक्रोश रैली को सफल बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। रैली की सफलता के लिए गहलोत दिन-रात एक करते दिखे। कार्यकर्ता एक बार फिर पार्टी से पूरे जोश के साथ जुड़ें इसके लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं को ही जिम्मेदारी दी। इस कारण रैली में हर राजस्थान से लोग पहुंचे। राजस्थान का हर जाना पहचाना कांग्रेस कार्यकर्ता रैली में मौजूद रहा। इस दौरान गहलोत के लिए भी जमकर नारे लगे।
राहुल के संबोधन के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जोश देखने लायक था। पूरा रामलीला मैदान तालियों और राहुल गांधी जिंदाबाद के नारों से गूंज उठा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ललकारते हुए 2019 के आम चुनाव का आगाज ही नहीं किया, बल्कि पीएम मोदी और भाजपा को आने वाले सभी चुनावों के लिए चुनौती दे डाली।

परिपक्वव, संतुलित और स्थिर

जनाक्रोश रैली में राहुल ऊर्जा से भरे एक नए अंदाज में नजर आए। राहुल के अगर कुछ साल पहले से जनाक्रोश रैली तक के भाषण का विश्लेषण करें तो आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहीं ज्यादा परिपक्कव, संतुलित और एक स्थिर राजनीतिज्ञ के रूप में दिखे।

कांग्रेस बनाएगी सरकार

राहुल ने न सिर्फ 2019 में कांग्रेस पार्टी की जीत का दावा किया, बल्कि उन्होंने ये ऐलान भी किया कि आने वाले सभी चुनावों में चाहे वो कर्नाटक हो छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश या राजस्थान हो, कांग्रेस इन सभी राज्यों में सरकार बनाएगी।

गहलोत की रही जनाक्रोश रैली पर पैनी नजर

कांग्रेस के नेतृत्व में बदलाव के बाद राहुल की टीम में एक और व्यक्ति भी है जिसने इस जनाक्रोश रैली पर पैनी नजर रखी। ये हैं राजस्थान कांग्रेस के कद्दावर नेता और नव निर्वाचित कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी अशोक गहलोत। गहलोत के इस आयोजन की पल-पल की खबर रखने के कारण ही रामलीला मैदान में इतना बड़ा जनसैलाब उमड़ा।

एंट्री कार्ड पर वोटर आईडी

यही नहीं, अशोक गहलोत ने इस रैली में कई इनोवेटिव योजनाएं भी लागू की। उदाहरण के तौर पर इस देश में ऐसे कितने वोटर हैं जो कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं और पार्टी के डेडिकेटेड सपोर्टर हैं। ऐसे लोग जो हर परेशानी में पार्टी के साथ खड़े हो सकते हैं। इसकी गणना के लिए एक ऐसा एंट्री कार्ड बनाया गया जिस पर अन्य विवरण के साथ वोटर आईडी भी लिखी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *