मुद्दा गरम: किसी को नमाज पढऩे से नहीं रोका- खट्टर

मुद्दा गरम: किसी को नमाज पढऩे से नहीं रोका- खट्टर

-आज रोक नहीं लगाई तो कल जमीन का हक मांगेंगे

विभिन्न टीवी चैनल्स से प्राप्त जानकारी के आधार पर

नई दिल्ली। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढऩे के मामले पर सफाई दी। उन्होंने कहा, मैंने कभी किसी को नमाज अदा करने से रोकने की बात नहीं कही। अगर कहीं जगह कम पड़ रही है तो लोग इसके लिए निजी जगहों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा था कि नमाज सिर्फ मस्जिद और ईदगाह में पढ़ी जानी चाहिए। बता दें कि बीते शुक्रवार को गुडग़ांव में हिंदू संगठनों के कुछ लोगों की ओर से सार्वजनिक जगहों हो रही नमाज में बाधा पहुंचाए जाने का मामला सामने आया था। इसके बाद हालात तनावपूर्ण हो गए थे।

मुख्यमंत्री ने रविवार को चंडीगढ़ में कहा था, नमाज सार्वजनिक स्थानों की बजाय सिर्फ मस्जिद और ईदगाह में पढ़ी जाना चाहिए। आजकल खुले में नमाज अदा करने का चलन बढ़ गया है। आज रोक नहीं लगाई तो कल उस जमीन या जगह पर मालिकाना हक मांगेंगे और कहेंगे कि हम तो सालों से वहां नमाज पढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सफाई देने के बाद इजरायल और यूके के 10 दिवसीय दौरे पर रवाना हो गए।

बयान पर विवाद के बाद मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि हमारा मानना है कि नमाज मस्जिद या फिर ईदगाह में पढ़ी जाना चाहिए, अगर कहीं जगह की कमी होती है तो इसके लिए निजी जगह का इस्तेमाल किया जा सकता है। राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखना सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि अगर किसी को सार्वजनिक स्थान पर नमाज पढ़े जाने से कोई समस्या होती है तो वह पुलिस या फिर प्रशासन को सूचना दे। ये ठीक था जब तक खुले में नमाज पढऩे से किसी को कोई दिक्कत नहीं थी, पर अगर किसी विभाग या व्यक्ति को आपत्ति होती है तो हमें सतर्क रहना होगा।

हिंदू संगठनों के कुछ लोगों की ओर से कई इलाकों में खुले में नमाज में बाधा पहुंचाए जाने की बात सामने आई थी। इसके बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। हालांकि, कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। हिंदू संगठनों का कहना है कि अगर प्रशासन ने सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढऩे पर रोक नहीं लगाई तो वह विरोध जारी रखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *