कांग्रेस में 50 से 60 सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को हाईकमान का इशारा!

कांग्रेस में 50 से 60 सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को हाईकमान का इशारा!

-सिर्फ जीत की गणित रखने वालों को ही टिकट

रोशनलाल शर्मा

जयपुर। पूरी तरह से चुनावी मोड में आ चुकी प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने योजनाबद्ध तरीके से काम करना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में चुनाव पूर्व अभी से ही संभावित प्रत्याशियों को काम करने के लिए इशारा भी कर दिया गया है।
कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक इस बार बॉयोडॉटा वगैरह की औपचारिकता पूरी नहीं की जाएगी और टिकट वितरण में पार्टी अपनी कई परम्पराएं भी तोड़ेगी। इसी रणनीति के तहत पिछले करीब एक माह से अब तक करीब 50 से 60 सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को कांग्रेस हाईकमान ने इशारा कर दिया है कि वे अपने क्षेत्रों में चुनावी काम में जुट जाए, उन्हें वहां से चुनाव लड़ाया जा सकता है। इन सीटों में राजधानी जयपुर की आठ सीटों में से चार सीटें शामिल हैं।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि इस बार पार्टी टिकट वितरण में कई पुरानी परम्पराओं को तोड़ेगी। सूत्र सिर्फ एक ही होगा कि उसी प्रत्याशी को चुनाव लड़ाया जाएगा जो हर समीकरण में जीतने योग्य होगा। अब तक जाति और सम्प्रदाय के हिसाब कई जगह मात खा रही कांग्रेस इससे भी उबरने की तैयारी कर रही है। यही कारण है कि इस बार राजधानी जयपुर में अल्पसंख्यक समुदाय को सिर्फ एक ही सीट पर संतोष करना पड़ सकता है। जयपुर में पिछले कई चुनावों से शहर की दो सीटों पर पार्टी अल्पसंख्यक नेताओं को मैदान में उतारती आ रही है लेकिन दोनों ही सीटों से अल्पसंख्यक चुनाव हारते आ रहे हैं। ऐसे में बहुत हद तक संभावना यह है कि पार्टी जयपुर में एक ही अल्पसंख्यक सीट देगी। ताकि पूरी ताकत के साथ वहां से अल्पसंख्यक उम्मीदवार चुनाव जीतने की स्थिति में हो और हिन्दू वोटों को पॉलोराइजेशन भी भाजपा के पक्ष में नहीं हो।

सभी 200 सीटों पर प्रत्याशी चयन की कवायद करीब-करीब पूरी

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि सभी दो सौ सीटों पर कांग्रेस ने अपने संभावित प्रत्याशियों की कवायद पूरी कर ली है। हालांकि लोक दिखावे के लिए पैनल आदि बनाने की प्रक्रियाएं की जाएगी। कारण साफ है कि दिल्ली में बैठे पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सभी दो सौ सीटों के बारे में पूरी जानकारी है। इधर, सचिन पायलट भी अपना होमवर्क पूरा कर चुके हैं। पार्टी टिकटों की घोषणा तो नामांकन दाखिल से पहले ही करेगी लेकिन अपने प्रत्याशियों को क्षेत्र में काम करने के निर्देश धीरे-धीरे देती जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *