Social

औचित्य खोते वैश्विक संगठन

अमरीकी सेनाओं के पूर्ण रूप से अफगानिस्तान छोड़ने से पहले ही यह सब हो जाता है वो भी बिना किसी संघर्ष के। Image description औचित्य खोते वैश्विक संगठन दृश्य 1: सुरक्षित स्थान की तलाश में अपने ही देश से पलायन करने के लिए एयरपोर्ट के बाहर हज़ारों महिलाएं, बच्चे और बुजुर्गों की भीड़ लगी है। कई दिन और रात वो भूखे प्यासे वहीं डटें हैं इस उम्मीद में कि किसी

मुख्यमंत्री ने चेताया कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है

जयपुर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को कोरोनावायरस की तीसरी लहर के प्रति चेताया है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट करके प्रदेश की जनता से सावधानी बरतने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा कि विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना संक्रमण के फैलने की स्थिति को जांचने का वैज्ञानिक पैमाना रिप्रोडक्टिव फैक्टर (आर फैक्टर) है। आर फैक्टर से पता चलता है कि एक संक्रमित मरीज कितने अन्य लोगों को

बालिका वधु को सारथी का मिला साथ तो 18 साल बाद बाल विवाह के पिंजरे से आजाद, अब भरेगी भविष्य की उडान

सारथी ट्रस्ट की डाॅ.कृति की मदद से टोंक जिले का पहला बाल विवाह निरस्त, पारिवारिक न्यायालय ने बाल विवाह निरस्त का ऐतिहासिक फैसला सुनाया, दो साल की अबोध उम्र में बाल विवाह के बंधन में बंधी थी टोंक। तकरीबन अठारह साल पहले महज दो साल की अबोध उम्र में बाल विवाह के पिंजरे में कैद टोंक जिले के रानोली ग्राम की बीस वर्षीय बालिका वधु संजू को आखिरकार सारथी ट्रस्ट

मंत्रिमंडल विस्तार या मंत्रिमंडल सुधार

मोदी जैसा अनुभवी राजनीतिज्ञ यह अच्छी तरह जानता है कि नोटबन्दी या जीएसटी या फिर पेट्रोल डीज़ल की बढ़ती कीमतों जैसे विषयों में भले ही लोग अपने नेता की नीयत देखेते हों लेकिन जब बात आम आदमी के जीवन, उसके स्वास्थ्य, उसके अस्तित्व पर ही आ जाती है तो वो ही जनमानस नीयत नहीं नतीजे देखता है। मंत्रिमंडल विस्तार या मंत्रिमंडल सुधार मोदी सरकार के मंत्रिमंडल का ताज़ा विस्तार जहां

लोकतंत्र को कमजोर करती अवसरवाद की राजनीति

आज ऐसा प्रतीत होता है कि राजनीति में लक्ष्य प्राप्त करने की राह में शुचिता नैतिकता और विचारधारा जैसे शब्द जो कभी सबसे बड़े गुण माने जाते थे, आज सबसे बडे अवरोधक बन गए हैं। सामान्यतः राजनीति ऐसा विषय नहीं होता जो चुनावों के अतिरिक्त आम आदमी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करे। लेकिन विगत कुछ समय से देश में ऐसे घटनाक्रम हुए हैं जिन्होंने आमजन का ध्यान राजनीति की

विफा का शपथ समारोह: अपने बच्चों में आत्मविश्वास जगाएं- डॉ जोशी

-ईब्ब्ल्यूएस को भी आयु सीमा में छूट व विप्र कल्याण बोर्ड गठन का दिलाया भरोसा जयपुर। सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने विप्र समाज से अपने बच्चों में आत्म विश्वास जगाने का आह्वान करते हुए कहा कि ब्राह्मण समाज की वाजिब मांगों को पूरा कराने में समाज के साथ हरदम खड़े हैं। उन्होंने कहा कि ईब्ल्यूएस को सरकारी भर्ती में अन्य आरक्षित वर्ग के समान आयु सीमा में छूट व

रिम्पा के तबला वादन में दिखी साधना की छाप

– चिकित्सा सेवा सम्मान से नवाजी गई हस्तियां जयपुर। अमर मेडिकल एंड रिसर्च सेंटर मानसरोवर की ओर से पिंकसिटी प्रेस क्लब सभागार में आयोजित तालरंग-2021 कार्यक्रम में कोलकाता की अंतरराष्ट्रीय कलाकार रिंपा शिवा ने अपने गुरु पं. स्वप्न शिवा के सबक को साकार कर सुधिजनों की भरपूर वाहवाही पाई। प्राचीन बंदिश एवं फरमाइशी परणों की उम्दा प्रस्तुति ने मोहा वहीं तिरकिट और धिरधिर के बहे रेले ने लय के विविध

बंगाल चुनाव देश की राजनीति की दिशा तय करेगा

बंगाल एक बार फिर चर्चा में है। गुरुदेव रबिन्द्रनाथ टैगोर, स्वामी विवेकानंद, सुभाष चंद्र बोस, औरोबिंदो घोष, बंकिमचन्द्र चैटर्जी जैसी महान विभूतियों के जीवन चरित्र की विरासत को अपनी भूमि में समेटे यह धरती आज अपनी सांस्कृतिक धरोहर नहीं बल्कि अपनी हिंसक राजनीति के कारण चर्चा में है। वैसे तो ममता बनर्जी के बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में दोनों ही कार्यकाल देश भर में चर्चा का विषय रहे हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव  लालू पासवान के बिना फीकी है चुनावी रंगत

रमेश सर्राफ धमोरा बिहार विधान सभा चुनाव का प्रचार पूरे शबाब पर है। वहां आगामी 28 अक्टूबर, 3 व 7 नवंबर को 3 चरणों में वोट डाले जाएंगे। वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी। कोरोना के दौर में बिहार में विधानसभा चुनाव करवाना चुनाव आयोग व राज्य सरकार के लिए किसी चुनौति से कम नहीं होगा। बिहार में आए दिन बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं।

भेंट द गिफ्ट फॉर लाइफ की 110 वीं श्रृंखला में जयपुर  घराने का  कत्थक प्रदर्शन

जयपुर संगीत महाविद्यालय द्वारा कोविड-19 के तहत आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम “भेंट द गिफ्ट फॉर लाइफ ” की 110 वीं श्रृंखला में प्रसिद्ध जयपुर घराना से क्षमा कुलर्कणी ने कत्थक नृत्य की शुरुआत गणेश ध्रुपद रचना से कथक नृत्य को आरंभ किया तत्पश्चात ताल झपताल को प्रस्तुत किया | इसके पश्चात खंडिता नायिका की प्रस्तुति में भाव प्रदर्शित किए कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए कजरी की प्रस्तुति दी और कार्यक्रम के