November 2021

अमृत माटी का इस जग से पिया पानी बचाएगा 100 बीमारियों से, पानी की अम्लीयता को करेगा खत्म

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकल फॉर वोकल के नारे से प्रेरित होकर अमृत माटी इंडिया ट्रस्ट ने मिट्टी के एक ऐसे जग का पानी का आविष्कार किया है जिसमें अमलीय पानी को क्षारिय पानी यानी गुणवत्तायुक्त पानी में बदलने की अद्भुत क्षमता हैं। इस जग को ट्रस्ट की ओर से पूर्ण वैज्ञानिक पद्धति को अपनाते हुए तैयार किया गया है। इस नवाचार से आमजन को उच्च क्वालिटी का एल्कालाईन पानी उपलब्ध हो सकेगा। ट्रस्ट के चेयरमैन अंजनी किरोड़ीवाल ने बताया कि मिट्टी पर अनुसंधान कर देश में पहली बार मिट्टी से बना एल्कालाईन वॉटर जग का निर्माण किया गया है। जिसे आईआईटी रूडक़ी ने विभिन्न परीक्षणों के बाद प्रमाणित भी कर दिया। किरोड़ीवाल के अनुसार ट्रस्ट का उद्देश्य था कि एल्कालाईन पानी के यूनिट बाजार में 50 हजार से कई लाखों में उपलब्ध होती है। जिसे हर व्यक्ति इस्तेमाल नहीं कर पाता। ऐसे में आमजन बीमारियों को न्योता देने वाले पानी को पीने को मजबूर है। जन-जन की इस समस्या को ध्यान मे रखते हुए जनसाधारण तक एल्कालाईन वाटर उपलब्ध करवाने की दिशा में इस एल्कालाईन वॉटर जग का निर्माण किया गया। जो कि बहुत मामूली कीमत 1000 रुपए तक ट्रस्ट उपलब्ध करवाएगा। यह किसी भी प्रकार के पानी को बीआईएस स्टैण्ड्डर्स के अनुसार 8.85 प्रतिशत तक पीएच लेवल का पानी उपलब्ध करवाने में समर्थ है।   पानी की शुद्धता को नापने के लिए 1913 में जर्मनी में डॉ. ऑटो ने एक सिद्धांत की रचना की थी, जिसे नाम दिया गया पीएच लेवल। डॉ.ऑटो को इस आविष्कार के लिए नोबेल पुरस्कार मिला था। वह कहते हैं कि जिस किसी व्यक्ति का पीएच लेवल 7 है तो वह न्यूट्रल है ना ठीक है ना बीमार है। जिस किसी इंसान का पीएच लेवल 7 से नीचे की ओर आ रहा है तो वह व्यक्ति एसिडिक कल्चर में हैं जिसे तमाम बीमारियां होने की संभावना है। जिस किसी व्यक्ति का पीएच लेवल 7 से ऊपर जा रहा है वह व्यक्ति एल्कालाईन कल्चर में आ जाता है। जिसे भविष्य में कोई भी गंभीर बीमारी नहीं हो सकती है। इसी सिद्धांत के अनुसार जग का निर्माण किया गया ताकि पीने योग्य पानी हर आम को उपलब्ध हो सके। जग को लेकर क्या कहती है वैज्ञानिकों की जांच रिपोर्ट आईआईटी रूडक़ी के वैज्ञानिकों ने दो तरह के सैम्पल एसेडिक वाटर के लिए जिसका पीएच मान 2.20 एवं 3.50 था इस पानी को एल्कालाईन जग में डालकर तत्काल निकालने का पीएच मान 4.89 एवं 5.97 हो गया। इसी प्रकार तीन सैम्पल आरओ वॉटर के लिए गए जिनका पीएच मान क्रमश: 6.90, 6.23 व 6.85 था जिसे जग में डालकर तत्काल निकालने पर पीएच मान आया 8.42, 8.20 व 8.39 आरओ वॉटर से भी गुणवत्तायुक्त है एल्कालाईन जग का वॉटर आईआईटी रूडक़ी में जल एवं नवीकरण ऊर्जा विभाग के प्रोफेसर संजीव कुमार की देखरेख में ये सारे टेस्ट किए गए थे। इन वैज्ञानिकों ने आरओ वॉटर को लेकर चार और टेस्ट किए जिसका पीएच मान क्रमश: 6.85,6.85,6.85 व 5.94 था जिनमे से एक को 30 मिनट रखा तो वह वॉटर वीएच मान 8.39 में तब्दील हो गया। इसी तरह दूसरा 90 मिनट रखा गया जिसका मान बदलकर 8.42 हो गया। तीसरे व चौथे आरओ वॉटर को 6 घंटे के लिए जग में रखा गया जिसका पीएच मान क्रमश: 8.92 व 8.85 में बदल गया। इस टेस्ट के बाद पानी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टेंण्डर्स के तहत आईएस 10500-2012 के मपदण्डों के अनुसार पाया गया। रूडक़ी के वैज्ञानिकों के अनुसार एल्कालाईन वॉटर जग पानी के पीएच लेवल को बढ़ाने में पूर्णत: सक्षम माना और रूडक़ी ने जयपुर के एक कुम्हार के इस शोध पर अपनी मुहर लगा दी। जग के इस पानी के पीने के निम्न फायदे जैसे पाचनतंत्र सुधारे, शरीर से विषैले तत्व निकाले, लिक्विड एसिड खत्म करे, डीएनए को सही रखे, कैंसर की रोकथाम में सहायक, दमकती त्वचा, हार्मोन्स संतुलित करे, फ्लोराईड का प्रभाव खत्म कर सके, एण्टी-ऑक्सीडेन्ट्स, बढ़ती उम्र का प्रभाव रोके, रक्त संचरण बढ़ाए, हाईड्रेशन सहायक, वजन कम करने में सहायक, हड्यिों का क्षरण रोके और पीएच संतुलित रखे। उल्लेखनीय है कि पूर्व में ही अमृत माटी ने विशेष प्रकार के मिट़टी के बर्तनों का आधुनिक तकनीक से निर्माण कर लेबोट्ररी से जांच करवाई थी जो अन्य किसी भी बरतनों के मुकाबले चार गुणा तक अधिक पोषक तत्व प्राप्त करने में सक्षम है।  

बीकानेर के तुलछाराम सियाग 15 हजार फीट ऊंचे सिचाचिन गलेशियर पर हुए शहीद केंद्रीय मंत्री सहित कई लोगों ने दी श्रद्धांजलि

Jaipur. राजस्थान के बीकानेर ज़िले के नोखा के केड़ली गांव के सुबेदार तुलछाराम सियाग का सियाचिन ग्लेशियर में राष्ट्र को सेवा करते हुए शहीद हो गए। पार्थिव शरीर सेना के ट्रक में आज बीकानेर पहुंचा। बड़ी संख्या में लोगों ने पुष्पांजलि अर्पित कर नम आँखों से उनको विदाई दी। इस दौरान माहौल गमगीन हो गया। भारत माता जिंदाबाद नारो से गूंज उठा। इसके बाद बीकानेर में जगह-जगह लोगों ने पुष्पवर्षा

कल्ला को शिक्षा, प्रसादी को चिकित्सा और जोशी को जलदाय विभाग

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज अपने मंत्रियों को विभागों का बंटवारा कर दिया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खुद के पास वित्त एवं टैक्सेशन, गृह एवं न्याय, कार्मिक विभाग, सामान्य प्रशासन विभाग, कैबिनेट सचिवालय, एनआरआई, आईटी एवं कम्युनिकेशन, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग रखे है। इसके अलावा बी.डी. कल्ला : एजुकेशन, संस्कृत शिक्षा, आर्ट एंड कल्चर व एएसआई 3. शांति धारीवाल : स्वायत्त शासन, नगरीय विकास एवं हाउसिंग, कानून, इलेक्शन​​​​​4. परसादी

राज्यपाल ने 11 केबिनेट एवं 4 राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई

जयपुर, 21 नवम्बर। राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने रविवार को यहां राजभवन में आयोजित समारोह में 11 केबिनेट एवं 4 राज्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने शपथ दिलाने के लिए राज्यपाल श्री कलराज मिश्र से आग्रह किया। इससे पहले मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने राज्यपाल से समारोह प्रारम्भ करने की अनुमति मांगी। राज्यपाल श्री मिश्र ने समारोह में श्री हेमाराम चौधरी,

जनजातीय गौरव दिवस, पीएम मोदी ने किया मेवाड़ के भीलो को याद

नई दिल्ली। बोले बिना भीलो के महाराणा के साथ भीलो का संघर्ष भुलाया नहीं जा सकता बीते कुछ दिनों पहले कैबिनेट के फैसले के बाद 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाया जा रहा है जिसके चलते मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित जनजातीय गौरव दिवस में पीएम नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए और आदिवासियो के लिए कई योजनाओ का लोकार्पण भी किया. आयोजन में भाषण देते वक़्त

कंगना के आज़ादी वाले बयान से बीजेपी ने किया किनारा

बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया बोले ”जो कंगना राणावत का बयान है, उससे हम सहमत नहीं है। अपने बयानों के चलते अक्सर विवादों में घिरी रहने वाली अभिनेत्री कंगना राणावत ने बीते दिनों एक न्यूज़ चैनल में अपने आज़ादी पर दिए गए बयां को लेकर विवादों में घिर गयी थी। दरसल एक न्यूज़ शो में बात करते हुए उन्होंने बोला था के जो आज़ादी देश को 1947 में मिली थी वो

किसान आंदोलन- राकेश टिकैत बोले 29 नवंबर को ट्रैक्टरों से संसद भवन जाएंगे

नाइ दिल्ली। दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों के आंदोलन का एक साल पूरा होने जा रहा है। 26 नवम्बर को इस किसान आंदोलन के एक साल पूरा होने पर दिल्ली की सभी सीमाओं पर किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी। साथ ही 29 नवम्बर से हर दिन संसद के सत्र चलने तक 500 किसान 30 ट्रैक्टर ट्रालियों में ‘संसद मार्च’ करेंगे। तीन कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की

वृंदा गार्डेन सोसाइटी में  छठ  महोत्सव का आयोजन बड़ी धूम धाम से मनाया

जयपुर। वृंदा गार्डेन सोसाइटी में छठ महोत्सव का आयोजन बड़ी धूम धाम से मनाया। कार्यक्रम के संयोजक सुशील कुमार ने बताया महिला और पुरुष वर्ग ने छठ महापर्व के तीसरे दिन बुधवार 10 नवंबर को डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया। इसके अगले दिन यानि 11 नवंबर को उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही इस पर्व का समापन हो जाएगा।. इन दोनों ही दिनों में सूर्यदेव की

डॉ.कृति भारती को राष्ट्रीय प्रेरणा अवॉर्ड से नवाजा

फ्रांस की मल्टीनेशनल स्नाइडर इलेक्ट्रिक ने राजस्थान से एकमात्र डॉ.कृति को दिया अवॉर्ड जोधपुर। सूर्यनगरी के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती को बाल विवाह निरस्त व रोकथाम की साहसिक मुहिम के लिए फ्रांस की मल्टीनेशनल कंपनी स्नाइडर इलेक्ट्रिक की ओर से प्रेरणा अवॉर्ड 2021 से नवाजा गया। डॉ.कृति को कंपनी की अन्तरराष्ट्रीय बिजनेस समिट में पुड्डुचेरी की पूर्व उपराज्यपाल व पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण

वृंदा गार्डेन सोसाइटी में  चार दिवसीय छठ का आयोजन

जयपुर। वृंदा गार्डेन सोसायटी में छठ महोत्सव का चार दिवसीय आयोजन दिनांक 8 नवंबर से 11 नवंबर 2021 तक किया जाएगा। कार्यक्रम संयोजक सुशील कुमार ने बताया कि वृंदा गार्डेन सोसायटी के रेजिडेंट्स के सहयोग से विशेष सक्रिय सदस्यों के द्वारा निराहार व्रत रखा जाएगा, रेजिडेंट्स के द्वारा सूर्यास्त और सूर्योदय के समय सूर्य भगवान के अर्ध्य किया जाएगा एवं पारम्परिक विधि विधान से पूजा अर्चना के माध्यम से वृंदा