Ashok gahlot

गहलोत सरकार उठाएगी 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन का खर्च

-वैक्सीन कंपनियों द्वारा राज्य और केन्द्र सरकार को एक ही दर 150 रुपये प्रति डोज पर वैक्सीन उपलब्ध करवाने की मांग जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को निशुल्क वैक्सीन लगाए जाने की घोषणा की है। इसका खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। वैक्सीन निर्माता कंपनियों को राज्य सरकार ने वैक्सीन के लिए ऑर्डर देना शुरू कर दिया है। गहलोत ने कहा

शिक्षक परिवार से आने वाले डोटासरा मंत्री बनने बाद शिक्षक विरोधी क्यों

दुर्गा सिंह कुमावत की रिपोर्ट। राजस्थान के स्कूली शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के पिता मोहन सिंह शिक्षक रहे तथा पत्नी श्रीमती सुनीता देवी डोटासरा अभी भी तृतीय श्रेणी की शिक्षिका हैं। डोटाआसरा सत्तारूढ़ कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष हैं। अपने मंत्रियों को क्या नसीहत देंगे? सीएम अशोक गहलोत और प्रभारी महासचिव अजय माकन वीडियो को देखकर बताएं कि क्या डोटासरा का व्यवहार सही है? तो फिर समित शर्मा का जयपुर के

प्रेस कांफ्रेंस: ताली थाली तो बजा ली लेकिन मोदी-शाह देशवासियों का बैंड बजाकर जाएंगे: गहलोत

-राज्य सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने पर मीडिया संवाद -गहलोत ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां और केन्द्र पर साधा जमकर निशाना जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार को अपने मंत्रिमंडल के साथियों, एआईसीसी के प्रभारी महासचिव अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्दसिंह डोटासरा के साथ मीडिया से रूबरू हुए तो अपनी सरकार की उपलब्धियां तो गिनाई ही साथ ही केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी

दीपावली के बाद नए साल का जश्न भी 'बैन

कोविड-19 के लिए समीक्षा बैठक -मुख्यमंत्री की केन्द्र से मांग-सभी नागरिकों को नि:शुल्क वैक्सीन देने की स्पष्ट घोषणा करे क्योंकि आर्थिक प्रभावों के कारण आमजन वैक्सीन की कीमत चुकाने की स्थिति में नहीं जयपुर। दीपावली के बाद अब नए साल का जश्न भी कोरोना की भेंट चढ़ गया है। कोरोना समीक्षा की बैठक में मुख्यमंत्री ने तय किया है कि नए साल पर होटलों और क्लबों में होने वाले कार्यक्रम

हार्स ट्रेडिंग पर बोले गहलोत: जैसे बकरा मंडी में बकरे बिकते हैं, उस ढंग से खरीदकर राजनीति करना चाहते हैं

अब अगर कोई गद्दार निकलता है, जो पार्टी के नाम से जीतकर आए हैं, पार्टी ने उनको पहचान दी है, पार्टी ने बड़े-बड़े पद दिए हैं, एमएलए बना दिया, एमपी बना दिया, मंत्री बना दिया सबकुछ कर दिया, अब अगर हम गद्दारी करते हैं तो राजस्थान की जनता उनको कभी माफ नहीं करेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रेस वार्ता ज्यौं की त्यौं जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक

मोदी सरकार ने प्रजातंत्र के संचालन का सबक आज तक भी नहीं सीखा

-कांग्रेस विधायकों की कूकस स्थित होटल में कार्यशाला जयपुर। मोदी सरकार के छ: साल का लंबा अरसा पूरा होने के बाद ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे मोदी सरकार अपने ही नागरिकों के खिलाफ युद्ध लड़ रही हो तथा मरहम लगाने की बजाय घाव दे रही हो। यह यकीनन आश्चर्यजनक है कि मोदी सरकार ने प्रजातंत्र के संचालन का सबक आज तक भी नहीं सीखा। सरकारें नागरिकों की बात सुनने,

कोरोना मतलब। कमाई करो ना

रोशनलाल शर्मा इस देश का दुर्भाग्य है कि यहां पर महामारी भी लोगों के लिए अवसर बन जाती है। किसी के लिए उत्सव भी बन जाता है। बना ही ना। एक बार तो थाली और ताली बजाकर कोरोना त्यौहार मनाया गया। और त्यौहार तो फिर भी एक साल में एक बार आते हैं लेकिन कोरोना का दूसरा त्यौहार वापिस दस दिन में ही आ गया और लोगों ने घरों में

नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें महाराष्ट्र के राज्यपाल: गहलोत

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महाराष्ट्र में राजनीतिक हालातों को लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और महाराष्ट्र के राज्यपाल पर करारा हमला करते हुए राज्यपाल से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगा है। गहलोत ने मीडिया के सवालों का जिस तरह से जवाब दिया, वह पाठकों के लिए ज्यौं का त्यौं प्रस्तुत है। सवाल: बीजेपी दावा कर रही है कि हम सरकार बनाएंगे, सुप्रीम कोर्ट की तो वह

जेम्स एंड ज्वेलरी संस्थान के हॉस्टल का cm गहलोत ने किया उद्घाटन

जयपुर। जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन कॉउन्सिल के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ जेम्स एंड ज्वेलरी के छात्र होस्टल का शनिवार सुबह सीतापुरा औद्योगिक क्षेत्र में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उद्घाटन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मै इस कार्यक्रम के लिए दिल्ली से सीधे यहाँ पहुंचा हूं। देशव्यापी मंदी पर गहलोत बोले कि निर्यात ठप हो गया। हजारों नोकरियों पर गाज गिर गई। लेकिन मुझे पता

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की समीक्षा बैठक; मुख्यमंत्री ने दिए पत्रकार पेंशन सम्मान योजना शुरू करने के निर्देश

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ है। पत्रकारों के हितों की रक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले कार्यकाल में वरिष्ठ अधिस्वीकृत पत्रकार पेंशन (सम्मान) योजना शुरू की थी। बाद में इसे बंद कर दिया गया। उन्होंने निर्देश दिए कि बजट घोषणा के अनुरूप इसे नए रूप में शीघ्र शुरू किया जाए। गहलोत बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय