cm vasundhara raje

कांग्रेस के लिए राजस्थान हाड़ौती की सीमा पर ही खत्म: राजे

-जब-जब भी कांग्रेस सरकार आई हाड़ौती की उपेक्षा की डग/रामगंजमंडी/झालावाड़/कोटा/जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि कांग्रेस के लिए राजस्थान हाड़ौती की सीमा पर ही खत्म हो जाता है। जब-जब भी कांग्रेस की सरकारें आई कांग्रेस ने हाड़ौती क्षेत्र की उपेक्षा की। हाड़ौती से मेरा 30 साल का मजबूत रिश्ता है। इस अवधि में मैंने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं, लेकिन यहां के लोग ढाल बनकर हमेशा मेरे साथ खड़े

'जनता के प्यार और आशीर्वाद से जारी रहेगी विकास यात्रा: मुख्यमंत्री

गरीब, किसान, महिला, बेटियों, हर वर्ग का रखा ध्यान बांसवाड़ा/जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा है कि प्रदेष में साढ़े चार वर्षों में विकास के जो कार्य हुए हैं वे जनता के विश्वास के दम पर हुए हैं और आगे भी जनता के प्यार और आशीर्वाद से यह विकास यात्रा जारी रहेगी। राजे मंगलवार को बांसवाड़ा जिले के गांगड़तलाई में आमसभा को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि

मैडम का सुराज रथ तैयार हो रहा तैयार...

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 4 अगस्त से सुराज गौरव यात्रा की शुरूआत करने जा रही है। उसके लिए रथ तैयार हो चुका है। सुराज गौरव यात्रा में जिस रथ में बैठकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे प्रदेश का दौरा करेंगी, बुधवार को वो रथ 8 सिविल लाइंस स्थित मुख्यमंत्री आवास पहुंच चुका है। यहां मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और परिवहन मंत्री यूनुस खान ने इस बस नुमा रथ का जायजा लिया। रथ पूरी

-भाजपा कोर कमेटी की बैठक से लेकर सीएम की वीडियो कांफ्रेसिंग तक छाई रही पीएम की सभा

-चार करोड़ लाभार्थियों से सत्ता और संगठन बनाए रखेगी सम्पर्क जयपुर। सरकारी स्तर पर पीएम मोदी द्वारा विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद के बाद अब भाजपा संगठन और राज्य सरकार ने भी इनसे सीधा संवाद करेगा। चुनाव तक इन लाभार्थियों के टच में रहने का निर्णय किया गया है। भाजपा की कोर कमेटी की सोमवार को हुई बैठक और मुख्यमंत्री द्वारा कलेक्टरों की ली गई वीडियो कांफ्रेंसिंग तक लाभार्थी

इस्टर्न राजस्थान केनाल प्रोजेक्ट को पार्वती, कालीसिंध एवं चम्बल नदियों की लिंक परियोजना के रूप में मंजूरी मिले

-केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की मुलाकात नई दिल्ली/जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने बुधवार को नई दिल्ली में केन्द्रीय सड़क परिवहन, राष्ट्रीय राजमार्ग और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। राजे ने पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों को पेयजल एवं सिंचाई सुविधाओं से लाभान्वित करने के लिए बनाई गई करीब 37 हजार करोड़ रूपये की महत्वाकांक्षी परियोजना Óइस्टर्न राजस्थान केनाल प्रोजेक्टÓ को पार्वती,

मंशा विकास की हो तो कोई अड़चन सामने नहीं आती: राजे

-झोटवाड़ा नवीन आरओबी शिलान्यास समारोह- जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि जब मंशा विकास करने की हो, तो कोई अड़चन सामने नहीं आ सकती। उन्होंने कहा कि हमने जनता के पैसे को विकास कार्यों के माध्यम से वापस जनता तक पहुंचाया है। जो-जो काम करने के वादे किए, उन्हें पूरा भी किया। उन्होंने कहा कि हमने विकास के लिए प्रदेश की जनता की हर मांग को महत्व दिया है।

अन्नपूर्णा योजना के दूध से स्वस्थ होगा बचपन: राजे

-प्रदेश के 62 लाख बच्चों को सप्ताह में तीन दिन दूध- जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि बच्चों को सही पोषण मिले इसके लिए उनके माता-पिता रात-दिन मेहनत करते हैं। लेकिन अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों, मदरसों आदि में पढऩे वाले करीब 62 लाख बच्चों के अभिभावकों को यह चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारे नौनिहालों के लिए सरकार ने अन्नपूर्णा दूध योजना शुरू की है। जब ये

लोकतंत्र सेनानियों ने आपातकाल में लोकतंत्र को जिन्दा रखा: मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि आज से 43 साल पहले 25 जून 1975 को संविधान की सारी मर्यादाओं को ताक पर रख कर देश में लोकतंत्र की हत्या की गई और गैर-कानूनी रूप से आपातकाल लगाकर लोकतंत्र के समर्थकों को जेलों में ठूंस दिया गया। आपातकाल का यह घाव हमेशा याद रखा जाएगा। आपातकाल के उस दौर में कई महीनों तक जेल में रहने वाले हमारे लोकतंत्र सेनानियों

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: हर जिले में शुरू करेंगे योग पार्क: राजे

कोटा। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि स्वस्थ जीवन के लिये हमारी संस्कृति और शास्त्रों में वर्णित योग की महान परम्परा सिर्फ ऋषि-मुनियों तक सिमट गई थी। जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और योग गुरू स्वामी रामदेव ने पुनर्जीवित किया और आज पूरी दुनिया योग की कायल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि योग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के हर जिले में योग पार्क शुरू किए जाएंगे। राजे गुरुवार

जनसंवाद: पहले था 'काला पानी, अब विकास ने बदली कहानी

जयपुर। ‘पहले पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में आना काले पानी की सजा की तरह था। कोई भी यहां आना नहीं चाहता था। किसी अधिकारी-कर्मचारी की पोस्टिंग यहां होती थी तो वह जल्द से जल्द यहां से जाना चाहता था, लेकिन पिछले साढ़े चार साल में इस क्षेत्र में विकास की जो गंगा बही है, उससे यहां की तस्वीर और यहां के लिए लोगों की सोच पूरी तरह बदल गई है। मुख्यमंत्री